Corona: श्रीलंका में 'हिंदुस्तानी संजीवनी' से हुई वैक्सीनेशन की शुरुआत, भारत ने भेजे हैं 5 लाख फ्री टीके

सीनियर सिटीजनों ने दिखाया हौसला (सांकेतिक तस्वीर)

सीनियर सिटीजनों ने दिखाया हौसला (सांकेतिक तस्वीर)

श्रीलंका में शुक्रवार को कोलंबो (Colombo) के आसपास छह अस्पतालों में टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की गई. बता दें, भारत ने श्रीलंका को मुफ्त में कोरोना वायरस वैक्सीन (Corona Vaccine) की पांच लाख डोज मुहैया कराई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 9:02 PM IST
  • Share this:
कोलंबो. श्रीलंका में भारत से कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) मिलने के बाद शुक्रवार को कोलंबो (Colombo) के आसपास छह अस्पतालों में टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की गई. इस कार्यक्रम के तहत सबसे पहले कोरोना वैक्सीन की डोज हेल्थ वर्कर्स, सेना के जवानों और सरक्षा कर्मियों को दी गई. बता दें, भारत ने श्रीलंका को मुफ्त में कोरोना वायरस वैक्सीन की पांच लाख डोज मुहैया कराई है. श्रीलंका में वैक्सीन पहुंचने की अहमियत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसे रिसीव करने के लिए खुद श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने हवाईअड्डे पर पहुंचे थे. उन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन के लिए भारत को धन्यवाद दिया.

भारत ने अपनी पड़ोसी पहले नीति के तहत श्रीलंका को टीके दान दिए हैं. भारत ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि वह श्रीलंका और सात अन्य देशों - भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यामांर और सेशेल्स, अफगानिस्तान और मॉरीशस को सहायता के तौर पर कोविड-19 के टीके देगा. भारत अपनी 'पड़ोसी प्रथम नीति के तहत सहायता के तौर पर नेपाल, बांग्लादेश, भूटान और मालदीव को सहायता के रूप में कोविड-19 टीके भेज चुका है.

Youtube Video


राजपक्षे ने भारत का दिया धन्यवाद
एयर इंडिया के विशेष विमान के जरिए जब निशुल्क टीके की खेप कोलंबो अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पहुंची, तब राष्ट्रपति राजपक्षे भी वहां मौजूद थे. टीकों की ये खुराकें 42 डिब्बों में थीं. राजपक्षे के साथ हवाईअड्डे पर कोलंबो में भारतीय दूत गोपाल बागले भी मौजूद थे. राजपक्षे ने ट्वीट किया कि भारत द्वारा भेजी गई कोविड-19 टीके की पांच लाख खुराक प्राप्त हुईं. आवश्कता के समय पर श्रीलंका के लोगों के प्रति जताई गई उदारता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के लोगों का धन्यवाद.'



ये भी पढ़ें: भारत की वैक्सीन निर्माण की क्षमता की UN चीफ गुतारेस ने खूब की तारीफ, कहा- नई दिल्ली निभाए बड़ी भूमिका



भारतीय उच्चायोग ने किया ट्वीट

भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट किया कि शुभ ‘पोया' दिवस पर ‘कोविशिल्ड’ टीकों की पांच लाख खुराकें पहुंची .....ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा उत्पादित टीके के आपात इस्तेमाल की मंजूरी देने के बाद टीके भेजे गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज