श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने अमेरिका के साथ सैन्य समझौते को किया नामंजूर

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने कहा, वह स्टेटस ऑफ फोर्सेज एग्रीमेंट (एसओएफए) के प्रारूप के खिलाफ हैं.

News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 6:14 AM IST
श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने अमेरिका के साथ सैन्य समझौते को किया नामंजूर
मैत्रीपाला सिरिसेना श्रीलंका और अमेरिका के सैन्य समझौते के पक्ष में नहीं हैं. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 6:14 AM IST
श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने घोषणा की है कि वह अपनी सरकार को अमेरिका के साथ प्रस्तावित सैन्य समझौता नहीं करने देंगे. यह समझौता अमेरिकी सैनिकों को श्रीलंका के बंदरगाहों तक मुक्त आवाजाही की अनुमति देता है. सिरिसेना ने कहा कि वह स्टेटस ऑफ फोर्सेज एग्रीमेंट (एसओएफए) के प्रारूप के खिलाफ हैं. सिरिसेना पश्चिम झुकाव वाले प्रधामंत्री रानिल विक्रमसिंघे के रुख से एकदम अलग विचार रखते हैं.

देश से विश्वासघात के एग्रीमेंट को नहीं दूंगा मंजूरी 

राष्ट्रपति ने कहा, 'मैं ऐसे किसी समझौते को मंजूरी नहीं दूंगा जो हमारी संप्रभुता और स्वतंत्रता को कमतर करता हो. मौजूदा समय में अनेक समझौतों पर बातचीत चल रही है जो श्रीलंका के लिए नुकसान पहुंचा सकते हैं.' उन्होंने कहा, 'मैं स्टेटस ऑफ फोर्सेज एग्रीमेंट को मंजूरी नहीं दूंगा जो देश से विश्वासघात की बात कहता है. कुछ विदेशी ताकतें हमारे देश को अपना अड्डा बनाना चाहती हैं. मैं उन्हें हमारी संप्रभुता को चुनौती देने की मंजूरी नहीं दूंगा.'

 

गौरतलब है कि भारत के दक्षिण में स्थित श्रीलंका में अमेरिका की दिलचस्पी ऐसे वक्त में बढ़ रही है जब यह द्वीप  भारत और चीन के बीच संघर्ष का क्षेत्र बन गया है. चीन संपूर्ण एशिया को अपने व्यापार और यातायात से जोड़ने के लिए यहां के बंदरगाहों, पावरस्टेशनों तथा हाईवेज का वन बेल्ट व रोड पॉलिसी के तहत निर्माण कर रहा है.

ये भी पढ़ें-

श्रीलंका पहुंचे PM मोदी, ईस्टर धमाके में मारे गए लोगों को दी श्रद्धांजलि
Loading...

श्रीलंका के राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया ये खास तोहफा
First published: July 7, 2019, 5:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...