चीन में खुदाई के दौरान मकबरे से मिले 'अजीब लिक्विड; से भरे बर्तन, जांच जारी

चीन में खुदाई के दौरान मकबरे से मिले 'अजीब लिक्विड; से भरे बर्तन, जांच जारी
चीन में मकबरे की खुदाई के दौरान रहस्मयी तरल पदार्थ मिले हैं

मध्य चीन (Central China) में 2,000 साल पुराने मकबरे की खुदाई (Excavation Of Tomb) कर रहे पुरातत्वविदों (archaeologists) को एक कांसे का बर्तन एक रहस्यमय तरल (Strange liquid) से भरा हुआ मिला है.

  • Share this:
बीजिंग. मध्य चीन (Central China) में 2,000 साल पुराने मकबरे की खुदाई (Excavation Of Tomb) कर रहे पुरातत्वविदों (archaeologists) को एक कांसे का बर्तन एक रहस्यमय तरल (Strange liquid) से भरा हुआ मिला है, जिसके बारे उम्र दराज लोगों का मानना है कि यही तथाकथित जीवन का अ​मृत था. एक प्रचलित मान्यता के अनुसार चीन के हान राजवंश के दौरान शक्तिशाली लोगों द्वारा प्राचीन दरबार में जीवन अमृत की मांग की गई थी. कई सदस्यों को दुनिया में इसकी खोज के लिए भेजा गया था.

'यह तरल पदार्थ एक शुद्ध आत्मा हो सकती है'

डेली स्टार के मुताबिक इस अजीबोगरीब पेय पदार्थ के बारे में विशेषज्ञों ने इस महीने की शुरूआत में यह खुलासा किया था कि यह एक शुद्ध आत्मा हो सकता है और इसे 206 ईसा पूर्व के हान राजवंश को वापस दे दिया गया.



छह मकबरों की एक साथ खुदाई की गई
मध्य चीन के हेनान प्रांत में लुओयांग सांस्कृतिक अवशेष और पुरातत्व अनुसंधान संस्थान के अनुसार, यह खोज तब की गई थी जब विशेषज्ञों ने शिजियातुं गांव में छह मकबरों की एक साथ खुदाई की थी.

चीन में नौ राजवंशों ने शासन किया

लुओयांग ने 23 और 190 ईस्वी के बीच हान राजवंश की राजधानी पर राज किया. यह वह जगह थी जो चीनी सभ्यता विकसित हुई थी और यहां चीन के इतिहास में नौ राजवंशों ने शासन किया था. मध्य और वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा हान राजवंश अभिजात वर्ग को सौंपे गए खुदाई की जगह पूरे शिजियातुन स्थल में पाए गए हैं.

यहां ये वस्तुएं भी खुदाई के दौरान मिली हैं

इन मकबरों में से एक में पुरातत्वविदों को बर्तन, प्लेट और एक औपचारिक मुखौटा सहित अन्य दफन वस्तुएं मिली और वहीं पास में उन्हें एक जोड़ी कांसे के बर्तन भी मिले हैं. सील किए गए जहाजों में से एक रहस्यमय तरल के साथ आधे से अधिक भरा हुआ था, जिसके बारे में रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि यह जीवन को अमर बनाने वाला अमृत हो सकता है.

तरल पदार्थ है क्या?

शोधकर्ता वांग जिन ने कहा कि हमने वर्गाकार कांस्य के जहाजों में से एक में तरल पदार्थ पाया. कांस्य के एक जोड़े बर्तन मिले और उनमें से एक में तरल पदार्थ लगभग आधा भरा हुआ था. यह बगैर विश्लेषण के बता पाना मुश्किल है कि यह तरल क्या है? हमें इनमें से एक नमूना लेने और पहले उसका विश्लेषण करने की आवश्यकता है.

'अमरता की अवधारणा बहुत लोकप्रिय थी'

वांग के सहयोगी और खुदाई स्थल समन्वयक वू येन्ग ने बताया कि पश्चिमी हान काल के शासन के दौरान अमरता की अवधारणा और जीवन के एक अमृत में विश्वास बहुत लोकप्रिय था. उन्होंने बताया कि अच्छी तरह से संरक्षित मकबरों में कलात्मक ढंग से खुदे हुए चित्रमय पत्थर होते हैं. यह हो सकता है कि उस समय के लोगों ने सोचा हो कि इससे मृत आत्माओं को बुरी आत्माओं से दूर रखने में मदद मिल सकती है. इस समझ को लेकर एक जीवन शैली की अवधारणा दो सहस्राब्दी से अधिक पहले से प्रचलित हुई थी.

ये भी पढ़ें: नेपाल की संसद में 'विवादित नक़्शे' को मंज़ूरी देने वाला संविधान संशोधन पारित

चीन के मिलिट्री एक्सपर्ट ने की इंडियन आर्मी की तारीफ, कहा- US, रूस भी हैं पीछे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज