सुब्रमण्यन स्वामी के इस ट्वीट से भड़का मालदीव, भारतीय राजदूत को किया तलब

सुब्रमण्यन स्वामी ने ट्वीट किया था, ‘अगर मालदीव के चुनाव में धांधली होती है तो भारत को उस पर हमला कर देना चाहिए.’ उनके इस ट्वीट से मालदीव बेहद नाराज़ है.

News18Hindi
Updated: August 28, 2018, 1:15 PM IST
सुब्रमण्यन स्वामी के इस ट्वीट से भड़का मालदीव, भारतीय राजदूत को किया तलब
बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (फ़ाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 28, 2018, 1:15 PM IST
बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी  के एक ट्वीट से बवाल खड़ा हो गया है. स्वामी ने ट्वीट किया था, ‘अगर मालदीव के चुनाव में धांधली होती है तो भारत को उस पर हमला कर देना चाहिए.’ उनके इस ट्वीट से मालदीव बेहद नाराज़ है. लिहाजा मालदीव के विदेश मंत्री ने माले में तैनात भारत के राजदूत अखिलेश मिश्रा को तलब किया है.

बता दें कि मालदीव में अगले महीने चुनाव होने जाने जा रहे हैं. वहीं भारत सरकार ने स्वामी के बयान से खुद को अलग कर लिया है.

सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि मालदीव के भारतीय उच्चायुक्त को रविवार को बुलाया गया था, जहां स्वामी के ट्वीट पर मालदीव की सरकार ने चिंता जताई है. कहा जा रहा है कि मिश्रा विदेश सचिव अहमद सरीर से मिले थे. हालांकि मालदीव इनडिपेंडेंट अखबार के मुताबिक, सरीर के कार्यालय ने ऐसी किसी भी बैठक में जाने से इनकार कर दिया है.

Loading...
इस बीच सरकार से खुद को दूर करते हुए सुब्रमण्यन स्वामी ने भारतीय नागरिकों की रक्षा के लिए मालदीव में आक्रमण की बात दोहराई है. उन्होंने कहा है, "मालदीव में भारतीय नागरिकों के साथ बुरा व्यवहार नहीं किया जा सकता है. ये मेरी राय है कि भारत को अपने नागरिकों की रक्षा करने की ज़िम्मेदारी है जिसके लिए आक्रमण जरूरी है. मैं सरकार का प्रतिनिधित्व नहीं करता. "

पिछले दिनों मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद की सुब्रमण्यन स्वामी के साथ बैठक हुई थी. इस दौरान नशीद ने आशंका व्यक्त की थी कि 23 सितंबर को राष्ट्रपति चुनाव में अब्दुल्ला यमीन की पार्टी धांधली कर सकती है. इसके बाद स्वामी ने ट्वीट किया था.

मालदीव में 23 सितंबर को राष्ट्रपति चुनाव है. पिछले महीने भारत ने भी वहां स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव को लेकर चिंता जताई थी.

ये भी पढ़ें:

अलागिरी के 'ऐलान-ए-जंग' के बीच स्टालिन को मिला DMK प्रमुख का ताज

Opinion- नरेंद्र मोदी को फिर पीएम बनने से क्यों रोकना चाहते हैं अमर्त्य सेन?
Loading...

और भी देखें

Updated: November 18, 2018 04:55 AM ISTअब 1000 ग्राम का नहीं रहा एक किलो! जानिए क्या होगा आप पर असर?
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर