हैरतअंगेज : जर्मनी में 1940 में खोई शादी की अंगूठी 80 साल बाद मिली

हैरतअंगेज : जर्मनी में 1940 में खोई शादी की अंगूठी 80 साल बाद मिली
शादी की अंगूठी 80 साल बाद मिली. हालांकि इसकी असल मालिक अब जीवित नहीं हैं. फाइल फोटो

शादी कार्यालय से पता चला कि हांस हर्ज़ोग (Hans Herzog) और मार्गरेट फेचनर (Margarete Fechner) की शादी अंगूठी पर दर्ज तारीख पर हुई थी और इस दिन केवल इन्‍हीं दोनों की शादी पंजीकृत हुई थी.

  • Share this:
बर्लिन. जर्मनी (Germany) में एक हैरतअंगेज मामला सामने आया है. 1940 में गुम हुई शादी की एक अंगूठी 80 साल बाद मिली, जो इसकी असल मालिक तक पहुंचा दी गई है. मार्गरेट हर्ज़ोग (Margarete Herzog) की शादी की यह अंगूठी उस समय खो गई थी, जब वह एक सार्वजनिक शौचालय में हाथ धो रही थीं.

सगाई और शादी की अंगूठी जीवन की सबसे महत्वपूर्ण यादगारों में से एक है, लेकिन अगर यह खो जाए तो इंसान को सारी उम्र दुख रहता है. ऐसा ही एक वाकिया जर्मनी की मार्गरेट हर्ज़ोग (Margarete Herzog) के साथ हुआ. जब 1940 में उनकी शादी की अंगूठी उस वक्‍त खो गई थी, जब वह एक सार्वजनिक शौचालय में हाथ धो रही थी. मार्गरेट हर्ज़ोग की बेटी का कहना है कि उनकी मां ने अंगूठी को बहुत तलाशा, लेकिन वह अंगूठी उन्‍हें नहीं मिली. हालांकि इसे अब उन्‍होंने 80 साल बाद पाया. मगर अब उनकी मां इसे पहनने के लिए जीवित नहीं है, लेकिन वह खुश हैं कि उन्‍हें अपनी मां की एक निशानी मिल गई है.

अंगूठी पर दर्ज थी विवाह की तारीख
उन्होंने आगे कहा कि अंगूठी खोने के बाद उनकी मां बहुत दुखी थीं और उन्‍हें अपने जीवन के अंतिम समय में यह विश्‍वास हो गया था कि अब अंगूठी उन्‍हें नहीं मिलेगी और इस अंगूठी की प्रतीक्षा करते हुए 1996 में उनकी मृत्यु हो गई. जर्मन समाचार एजेंसी के अनुसार एक मेटल इकट्ठा करने वाले एक शौकीन को यह अंगूठी फूलों के एक बाग में मौजूद वाटर मिल के नीचे से गुजरने वाली पानी के रास्‍ते में मिली.
इस अंगूठी पर महिला के नाम के दो पर शुरुआती अक्षर एचएच गुदे हुए थे और इस पर दिनांक 30 मार्च 1940 भी लिखा हुआ था. अंगूठी मिलने के बाद इसे विवाह कार्यालय में ले जाया गया, जहां इसकी असली मालिक महिला का पता मिला. शादी कार्यालय से पता चला कि हांस हर्ज़ोग (Hans Herzog) और मार्गरेट फेचनर (Margarete Fechner) की शादी अंगूठी पर दर्ज तारीख पर हुई थी और इस दिन केवल इन्‍हीं दोनों की शादी पंजीकृत हुई थी.



ये भी पढ़ें - इमरान खान पब्लिक ट्रांसपोर्ट खोलकर पाकिस्‍तान को वुहान, इटली बनाना चाहतेे हैं!

             मिस्र में कोरोना को अमेरिकी अफवाह कहने वाले व्यक्ति की संक्रमण से मौत

                  
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज