Home /News /world /

फिर चीन को ताइवान ने दी खुली चेतावनी...हम हमलों से डरने वाले नहीं, पूरा जवाब मिलेगा

फिर चीन को ताइवान ने दी खुली चेतावनी...हम हमलों से डरने वाले नहीं, पूरा जवाब मिलेगा

चीन और ताइवान के बीच विवाद थम नहीं रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

चीन और ताइवान के बीच विवाद थम नहीं रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

China Vs Taiwan: ताइवान के रक्षा मंत्री चिऊ कुओ चेंग ने कहा है-चीन का उद्देश्य है कि वो इस तरह की कार्रवाई कर हमें थका देगा. लेकिन मैं बता देना चाहता हूं कि हम माकूल जवाब देने में पूरी तरह सक्षम हैं. दरअसल को चीन के 27 विमानों ने रविवार को ताइवान के एयर डिफेंस बफर जोन में प्रवेश किया. चीन की इस हरकत का जवाब देते हुए ताइवान ने भी अपने लड़ाकू विमानों को रवाना कर चीनी विमानों को चेतावनी दी.

अधिक पढ़ें ...

    ताइपेई. चीन और ताइवान (China Vs Taiwan) के बीच विवाद थम नहीं रहा है. अब चीन के लड़ाकू विमानों (Fighter Jets) ने एक बार फिर ताइवान के हवाई क्षेत्र में घुसपैठ की है. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए ताइवान ने कहा है- चीनी सेना हमें थकाना चाहती है लेकिन हम जवाब देने में पूरी तरह से सक्षम हैं. ताइवान के रक्षा मंत्री चिऊ कुओ चेंग ने कहा है-चीन का उद्देश्य है कि वो इस तरह की कार्रवाई कर हमें थका देगा. लेकिन मैं बता देना चाहता हूं कि हम माकूल जवाब देने में पूरी तरह सक्षम हैं.

    चिऊ कुओ चेंग ने कहा- हमारी राष्ट्रीय सेनाओं ने ऐसा पहले भी करके दिखाया है. अगर चीन के पास शक्तियां है तो हमारे पास भी उनका जवाब देने के लिए पर्याप्त ताकत मौजूद है. ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने बताया है कि कि चीन के 27 विमानों ने रविवार को उसके एयर डिफेंस बफर जोन में प्रवेश किया.

    चीन की इस हरकत का जवाब देते हुए ताइवान ने भी अपने लड़ाकू विमानों को रवाना कर चीनी विमानों को चेतावनी दी. मंत्रालय ने बताया कि हवाई क्षेत्र में प्रवेश करने वालों में 18 लड़ाकू विमान, पांच H-6 बमवर्षक विमान और ईंधन भरने वाला एक Y-20 शामिल था. रक्षा मंत्री ने इस वक्त दोनों देशों के बीच हालात को ‘बेहद गंभीर’ बताया है.

    ये भी पढ़ें: MSP को लेकर देश में कितने जागरूक हैं किसान? कौन ले पा रहा है इसका फायदा

    अमेरिका और चीन में ताइवान पर टकराव
    हाल में ताइवान को लेकर चीन और अमेरिका के बीच भी टकराहट सामने आई है. समिट फॉर डेमोक्रेसी इवेंट में अमेरिका ने कई देशों को बुलाया है. लेकिन रूस, पाकिस्तान और चीन जैसे देशों को बाहर रखा है. इस समिट में अमेरिका ने ताइवान को भी बुलाया है.

    ताइवान ने जो बाइडन सरकार के इस कदम का स्वागत किया है. लेकिन, अमेरिका के इस कदम से चीन एक बार फिर भड़क गया है. चीन ने कहा है कि ताइपे को ग्लोबल मंच देने से अमेरिका को चोट पहुंचेगी. चीन ने इस आयोजन का मकसद अमेरिकी जियोपॉलिटिकल गेमको आगे बढ़ाना बताया है.

    अमेरिका पर भड़का चीन
    चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि चीन ताइवान को लोकतंत्र के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए अमेरिकी अधिकारियों द्वारा ताइवान के निमंत्रण का कड़ा विरोध करता है. दुनिया में सिर्फ एक चीन है और पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना की सरकार चीन का प्रतिनिधित्व करने वाली एकमात्र कानूनी सरकार है.

    Tags: China-Taiwan, Taiwan, Xi jinping

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर