Home /News /world /

taiwan says china violate the law this is not a military exercise preparation for war crs

क्या युद्ध चाहता है चीन? ताइवान के विदेश मंत्री बोले- ये सैन्य अभ्यास नहीं..जंग की तैयारी है

चीन ने ताइवान से लगी सीमा पर सैन्य अभ्यास किया (News18)

चीन ने ताइवान से लगी सीमा पर सैन्य अभ्यास किया (News18)

China-Taiwan Tension: ताइवान के विदेश मंत्री ने कहा, हमारे देश के आसपास के क्षेत्रों में चीन के सैन्य अभ्यास का निर्णय अंतरराष्ट्रीय कानून का घोर उल्लंघन है. चीन के आक्रामक रवैये पर ताइवान ने आज मीडिया के सामने अपना पक्ष रखा. एक प्रेस रिलीज में ताइवान के विदेश मंत्री ने कहा, बड़े पैमाने पर चीन टारगेटेड मिलिट्री ड्रील एक गंभीर उकसावे वाली कार्रवाई है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

'चीन की टारगेटेड मिलिट्री ड्रील एक गंभीर उकसावे वाली कार्रवाई'
'चीन ने खुलेतौर पर ताइवान की समुद्री सीमा पर अपना दावा किया'
'बीजिंग कई सालों से ताइवान को धमकाते आया और कोशिशें जारी'

ताइपे: चीन की बौखलाहट पर प्रतिक्रिया देते हुए ताइवान ने कहा है कि, हमारे देश के आसपास के क्षेत्रों में चीन के सैन्य अभ्यास का निर्णय अंतरराष्ट्रीय कानून का घोर उल्लंघन है. ताइवान के विदेश मंत्री ने यह बात कही. उन्होंने कहा कि विशेष रूप से चीन ने जिस क्षेत्र को मिलिट्री ड्रील के लिए चुना है वह आपत्तिजनक है. दरअसल अमेरिकी स्पीकर नैन्सी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद से चीन ने आक्रामक तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं. जिसके चलते बीजिंग ने ताइवान से लगी समुद्री सीमा के पास बड़ा सैन्य अभ्यास शुरू किया.

दरअसल चीन के इस आक्रामक रवैये पर ताइवान ने आज मीडिया के सामने अपना पक्ष रखा. एक प्रेस रिलीज में ताइवान के विदेश मंत्री ने कहा, बड़े पैमाने पर चीन की टारगेटेड मिलिट्री ड्रील एक गंभीर उकसावे वाली कार्रवाई है. चीन ने इस सैन्य अभ्यास का इस्तेमाल ताइवान के खिलाफ युद्ध की तैयारी को देखते हुए किया. साथ ही ताइवान के लिए एकजुट होने वाले देशों को दखल देने से रोकने की कोशिश कर रहा है चीन.

बीजिंग कई सालों से ताइवान को धमकाते हुए आया है और लगातार अपनी कोशिशों को जारी रख रहा है. यह एक सच है. अब चीन ने खुलेतौर पर ताइवान की समुद्री सीमा पर अपना दावा किया है.

ताइवान के विदेश मंत्री बोले कि इस बार चीन ने ताइवान की समुद्री सीमा पर मेडियन लाइन को लेकर सालों से चले आ रहे समझौते का भी उल्लंघन किया है और इस मिलिट्री ड्रील को अंजाम दिया है. इससे पहले ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीन उसके मुख्य द्वीप पर हमले का अभ्यास कर रहा है. ऐसा लगता है कि उन्हें ताइवान के मुख्य द्वीप पर एक हमले का अभ्यास करने के लिए लगाया गया था. चीन के विमानों और जहाजों के एक से ज्यादा बैच ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार करते हुए दिखे.

Tags: China-Taiwan

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर