होम /न्यूज /दुनिया /अफगानिस्तान में तालिबान की क्रूरता, शॉपिंग के लिए निकली महिलाओं की बेरहमी से पिटाई

अफगानिस्तान में तालिबान की क्रूरता, शॉपिंग के लिए निकली महिलाओं की बेरहमी से पिटाई

अफगानिस्तान में तालिबान की बेरहमी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल. (Credit/Video Grab/@NasimiShabnam)

अफगानिस्तान में तालिबान की बेरहमी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल. (Credit/Video Grab/@NasimiShabnam)

Viral Video: सोशल मीडिया पर अफगानिस्तान से एक दिल दहला देने वाला वीडियो वायरल हो रह है. इस वीडियो में तालिबानी लड़ाके म ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अफगानिस्तान में तालिबान की क्रूरता का वीडियो वायरल
बिना पुरुष अभिभावक के शॉपिंग के लिए निकली महिलाओं की पिटाई
एक सोशल मीडिया यूजर ने शेयर किया वीडियो

नई दिल्ली. अफगानिस्तान में तालिबान की क्रूरता की कई खबरें सामने आई हैं. तालिबानी शासकों ने खासकर महिलाओं पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए हैं. इस बीच अफगानिस्तान से एक दिल दहला देने वाला वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें महिलाओं को महिलाओं को सरेआम बेरहमी से पीटा जा रहा है. शबनम नाम की एक सोशल मीडिया यूजर ने इस वीडियो को अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है. दावा किया जा रहा है कि ये कथित वीडियो तखर प्रांत का है.

बताया जा रहा है कि तालिबान के रूढ़िवादी नियम की धज्जियां उड़ाने के लिए महिलाओं को ऐसी बेरहम सजा दी गई. दरअसल, महिलाएं बिना किसी पुरुष अभिभावक के शॉपिंग के लिए निकली थीं. इसके बाद तालिबानी सैनिकों ने सरेआम महिलाओं की जमकर पिटाई कर दी. वीडियो में महिलाओं को डंडे से लगातार पीटते हुए दिखाया गया है.

सोशल मीडिया यूजर ने शेयर किया वीडियो

शबनम नाम की एक सोशल मीडिया यूजर ने इस वीडियो को अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा,’ ये है तालिबान, यहां ताखर प्रांत में बिना पुरुष अभिभावक के शॉपिंग के लिए निकली महिला की बेरहमी से पिटाई की गई. अफगानिस्तान की महिलाएं तालिबान शासन में धरती पर नरक का अनुभव कर रही हैं. हमें अपनी आंख नहीं मूंदनी चाहिए.’ समाचार एजेंसी एएफपी ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि बुधवार को तीन महिलाओं और 11 पुरुषों को चोरी का दोषी पाया गया. इसके बाद अफगान अदालत के आदेश पर सभी को कोड़े मारे गए.

ये भी पढ़ें:  पाकिस्तान में तालिबान ने फिर किया आतंकी हमला, सेना के गर्ल्स स्कूल में बरसाई अंधाधुंध गोलियां

सुप्रीम लीडर हिबतुल्ला अखुंदजादा ने पिछले महीने न्यायाधीशों को इस्लामी कानून के पहलुओं को पूरी तरह से लागू करने का आदेश दिया था जिसमें सार्वजनिक मौत की सजा, पत्थरबाजी और कोड़े मारना और चोरों के लिए शरीर के अंगों के काटने की सजा शामिल है. सोशल मीडिया में तालिबानी लड़ाकों के कई वीडियो और फोटो वायरल हुए हैं जिसमें वे अपराधियों को कोड़े मार रहे हैं. एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2001 के अंत में समाप्त हुए अपने पहले शासन के दौरान तालिबान ने नियमित रूप से सार्वजनिक रूप से लोगों को सजा दी, जिसमें राष्ट्रीय स्टेडियम में कोड़े मारना और फांसी देना शामिल था.

Tags: Afghanistan taliban news, Taliban punishment, Taliban rise in Afghanistan, Viral video

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें