Home /News /world /

Afghanistan Crisis: लोगार पर किया कब्जा, मजार-ए-शरीफ पर ताबड़तोड़ हमला- अफगानिस्तान में बढ़ता तालिबान का दबदबा

Afghanistan Crisis: लोगार पर किया कब्जा, मजार-ए-शरीफ पर ताबड़तोड़ हमला- अफगानिस्तान में बढ़ता तालिबान का दबदबा

Afghanistan-Taliban Crisis: उग्रवादी संगठन हाल के हफ्तों में उत्तर, पश्चिम और दक्षिण अफगानिस्तान के कई हिस्सों में काबिज हो चुका है और पश्चिमी देशों द्वारा समर्थित सरकार के अधिकार में काबुल के अलावा मध्य और पूर्व में कुछ ही प्रांत ही बचे हैं.

Afghanistan-Taliban Crisis: उग्रवादी संगठन हाल के हफ्तों में उत्तर, पश्चिम और दक्षिण अफगानिस्तान के कई हिस्सों में काबिज हो चुका है और पश्चिमी देशों द्वारा समर्थित सरकार के अधिकार में काबुल के अलावा मध्य और पूर्व में कुछ ही प्रांत ही बचे हैं.

Afghanistan-Taliban Crisis: उग्रवादी संगठन हाल के हफ्तों में उत्तर, पश्चिम और दक्षिण अफगानिस्तान के कई हिस्सों में काबिज हो चुका है और पश्चिमी देशों द्वारा समर्थित सरकार के अधिकार में काबुल के अलावा मध्य और पूर्व में कुछ ही प्रांत ही बचे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    काबुल. अफगानिस्तान में तालिबान तेजी से विस्तार कर रहा है. अब खबर है कि विद्रोहियों ने कंधार (Kandhar) में एक रोडियो स्टेशन (Radio Station) पर भी कब्जा कर लिया है. उग्रवादियों ने रेडियो का नाम बदलकर ‘वॉइस ऑफ शरिया’ (Voice of Sharia) कर दिया है. एक अफगान सांसद ने जानकारी दी थी कि तालिबान ने लोगार प्रांत में भी कब्जा कर लिया है. यह राजधानी काबुल से कुछ ही दूरी पर दक्षिण में स्थित है. साथ ही बीते शनिवार को विद्रोहियों की दस्तक काबुल (Kabul) के एक जिले में भी हो गई है. साथ ही शनिवार को विद्रोहियों ने मजार-ए-शरीफ पर भी हमले शुरू कर दिए हैं.

    तालिबान ने शनिवार को कंधार में एक रेडियो स्टेशन पर कब्जा कर लिया. उग्रवादी संगठन हाल के हफ्तों में उत्तर, पश्चिम और दक्षिण अफगानिस्तान के कई हिस्सों में काबिज हो चुका है और पश्चिमी देशों द्वारा समर्थित सरकार के अधिकार में काबुल के अलावा मध्य और पूर्व में कुछ ही प्रांत ही बचे हैं. हाल ही में तालिबान ने अपने कार्रवाई तेज कर 34 में से 18 प्रांतों पर कब्जा जमाया है. देश और दुनिया में काबुल की ओर बढ़ते विद्रोहियों के कदम चिंता का विषय बने हुए हैं.

    लोगार से सांसद होमा अहमदी ने बताया कि तालिबान ने पूरे प्रांत पर कब्जा कर लिया है, जिसमें उसकी राजधानी भी शामिल है और वह शनिवार को पड़ोसी काबुल प्रांत के एक जिले में पहुंच गया. तालिबान देश की राजधानी काबुल के दक्षिण में 80 किलोमीटर (50 मील) से भी कम दूरी पर पहुंच गया है. अफगानिस्तान से अमेरिका की पूर्णतय: वापसी में तीन सप्ताह से भी कम समय शेष बचा है और ऐसे में तालिबान ने उत्तरी, पश्चिमी और दक्षिणी अफगानिस्तान के अधिकतर हिस्सों पर कब्जा कर लिया है.

    यह भी पढ़ें: Afghanistan Crisis: काबुल के बेहद करीब पहुंचा तालिबान, अमेरिका ने दूतावास से खुफिया कागज मिटाने को कहा

    तालिबान ने एक वीडियो जारी किया जिसमें एक अज्ञात उग्रवादी ने शहर के मुख्य रेडियो स्टेशन को कब्जे में लेने की घोषणा की. रेडिया का नाम बदलकर ‘वॉइस ऑफ शरिया’ कर दिया गया है. उसने कहा कि सभी कर्मचारी यहां मौजूद हैं, वे समाचार प्रसारित करेंगे, राजनीतिक विश्लेषण करेंगे और कुरान की आयतें पढ़ेंगे. ऐसा लगता है कि स्टेशन पर अब संगीत नहीं बजाया जाएगा.

    तालिबान कई वर्षों से सचल रेडियो स्टेशन संचालित करता आ रहा है, लेकिन प्रमुख शहर में उसका रेडियो स्टेशन पहले कभी नहीं रहा. वह ‘वॉइस ऑफ शरिया’ नाम का स्टेशन चलाता था जिसमें संगीत पर पाबंदी थी. तालिबान के शासन के डर से हजारों लोगों ने अफगानिस्तान छोड़ दिया है. इससे पहले भी ये विद्रोही देश पर शासन कर चुके हैं, जहां कई तरह की पाबंदियां लागू थी.

    (भाषा इनपुट के साथ)

    Tags: Afghanistan, Kabul, Kandhar, Mazar-e-Sharif, Taliban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर