लाइव टीवी

शांति वार्ता समाप्त होने के बावजूद तालिबानी नेताओं ने PAK में की अमेरिकी दूत से मुलाकात

भाषा
Updated: October 5, 2019, 11:59 AM IST
शांति वार्ता समाप्त होने के बावजूद तालिबानी नेताओं ने PAK में की अमेरिकी दूत से मुलाकात
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के तालिबान के साथ शांति वार्ता समाप्त करने के करीब एक महीने बाद दोनों पक्षों के बीच यह मुलाकात हुई.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) के तालिबान के साथ शांति वार्ता समाप्त करने के करीब एक महीने बाद मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के नेतृत्व में तालिबान के एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को जलमी खलीलजाद से मुलाकात की.

  • Share this:
काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) से शांति वार्ता समाप्त होने के बावजूद गुपचुप तौर पर वार्ता अभी भी जारी है. अमेरिका के विशेष दूत जलमी खलीलजाद ने इस्लामाबाद में तालिबान के एक प्रतिनिधिमंडल से शुक्रवार को मुलाकात की. नाम उजागर ना करने की शर्त पर तालिबान से जुड़े एक व्यक्ति ने शनिवार सुबह यह जानकारी दी.

गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के तालिबान के साथ शांति वार्ता समाप्त करने के करीब एक महीने बाद दोनों पक्षों के बीच यह मुलाकात हुई. मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के नेतृत्व में तालिबान के एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को जलमी खलीलजाद से मुलाकात की. मुल्ला अब्दुल गनी बरादर उस अभियान के सह-संस्थापक हैं, जिसे 2001 में अमेरिका नेतृत्व वाले गठबंधन ने बाहर किया था.

मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के नेतृत्व में तालिबान का प्रतिनिधिमंडल


अमेरिकी अधिकारियों ने कहा शांति वार्ता की कोई संभावना नहीं

अमेरिकी अधिकारियों ने हालांकि कहा कि शांति वार्ता फिर शुरू होने की कोई संभावना नहीं है. कम से कम अभी इस्लामाबाद में तो नहीं. खलीलजाद की यह यात्रा ऐसे समय में हो रही है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कुछ दिन पहले अमेरिका की यात्रा की थी और इस दौरान उन्होंने ट्रम्प से मुलाकात कर अफगानिस्तान में शांति लाने की दिशा में बातचीत बहाल करने समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा की थी.

तालिबान प्रतिनिधिमंडल


तालिबान से वार्ता शुरू करने को लेकर खलीलजाद ने की इमरान खान से मुलाकात
Loading...

खलीलजाद ने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में शामिल होने के लिये आये प्रधानमंत्री खान से भी मुलाकात की थी, जहां दोनों ने तालिबान के साथ बातचीत फिर से शुरू करने को लेकर अपने विचार साझा किये थे. अमेरिका और तालिबान मसौदा शांति योजना पर सहमत थे लेकिन पिछले महीने काबुल में एक आत्मघाती हमले में एक अमेरिकी सैनिक की हत्या के बाद राष्ट्रपति ट्रम्प ने बातचीत की प्रक्रिया रद्द कर दी थी. इस आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली थी.

बता दें कि पाकिस्तान ने तालिबान अमेरिका से वार्ता फिर से शुरू करने को कहा है. विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने तालिबान के एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल से गुरुवार को मुलाकात की थी. यह मुलाकात अफगान शांति प्रक्रिया को फिर से शुरू करने पर जोर देने के उद्देश्य से की गई थी. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तालिबान के साथ शांति वार्ता को अचानक से रद्द कर इसे 'खत्म' घोषित कर दिया था.

ये भी पढ़ें: 

जलवायु परिवर्तन पर लोगों की राय जानने के लिए ब्रिटिश शाही जोड़ा जाएगा PAK

सऊदी अरब में अब होटल के एक ही कमरे में रुक सकेंगे विदेशी महिला और पुरुष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 11:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...