Home /News /world /

ईद-उल-अज़हा पर तालिबानी आतंकवादियों ने युद्ध विराम की घोषणा की, सबने किया वेलकम

ईद-उल-अज़हा पर तालिबानी आतंकवादियों ने युद्ध विराम की घोषणा की, सबने किया वेलकम

पाकिस्तानी सेना ने अफगानिस्तान के रिहायशी इलाके पर दागे रॉकेट

पाकिस्तानी सेना ने अफगानिस्तान के रिहायशी इलाके पर दागे रॉकेट

अफगानिस्तान के तालिबानी आतंकवादियों (Talibani Terrorist) ने मंगलवार को ईद-उल-अज़हा (Eid-Al--Adha) के तीन दिन युद्धविराम (Ceasefire) की घोषणा की है.

    काबुल. अफगानिस्तान के तालिबानी आतंकवादियों (Talibani Terrorist) ने मंगलवार को ईद-उल-अज़हा (Eid-Al--Adha) के तीन दिन युद्धविराम (Ceasefire) की घोषणा की है. हफ्तों से जारी हिंसा में यह घोषणा एक राहत की खबर लेकर आई है. तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने ट्वीट किया है कि हमारे लोगों को विश्वास और खुशी में ईद के तीन दिन बिताने के लिए हमने सभी कमांडरों को हिदायत दी है कि वे तीन दिन तक किसी तरह का कोई हमला न करें लेकिन अगर सरकारी बल उन पर हमला करें तो उन हालातों में वे जवाबी कार्यवाही कर सकते हैं. कैदियों की अदलाबदली के विषय पर असहमति और बढ़ती हिंसा के कारण अफगान सरकार शासित समिति और तालिबान के बीच शांति वार्ता में देर हुई. फरवरी में दोहा में संयुक्त राज्य अमेरिका और आतंकवादी समूह के बीच एक समझौते में ये बातें तय की गई थीं.

    युद्ध विराम की घोषणा का अफगान सरकार ने किया वेलकम

    अफ़ग़ानिस्तानी सरकार का रवैया दूसरी तरफ अफगानी राष्ट्रपति के प्रवक्ता सादिक़ सिद्दीकी ने कहा कि सरकार ने युद्धविराम की घोषणा का स्वागत किया है लेकिन यह भी कहा कि अफगान सरकार स्थायी शांति चाहती है और इसीलिए वे सीधे शांति वार्ता शुरू करना चाहते थे.

    राष्ट्रपति अशरफ गनी ने मंगलवार को एक भाषण में कहा कि अमेरिकी-तालिबान समझौते के बाद से आतंकवादियों के हमलों में 3,560 अफगान सुरक्षा बल के जवान मारे गए हैं इसलिए हम तालिबान की इस घोषणा का स्वागत करते हैं. समझौते के अनुसार काबुल को पांच हजार तालिबानियों को रिहा करना था जबकि तालिबान को एक हजार अफगानी सैनिकों को छोड़ना था.  काबुल सरकार अबतक करीब चार हजार कैदियों को छोड़ चुकी है जबकि तालिबान ने तकरीबन 800 कर्मियों को रिहा किया है।.

    1,280 से अधिक अफगान नागरिक मारे जा चुके हैं: UNAMA

    अफगानिस्तान में यूएन असिस्टेंस मिशन (UNAMA) ने सोमवार को एक रिपोर्ट में कहा कि वर्ष के शुरूआती छह महीनों में अफगान सरकारी सैन्य बलों और तालिबान के बीच लड़ाई के कारण 1,280 से अधिक अफगान नागरिक मारे गए हैं.

    ये भी पढ़ें: अच्छी खबर: रूस का दावा, 10 अगस्त से पहले आएगी दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन

    यूक्रेन: जेल में $72 खर्च कर बंदियों को बड़ा सेल, एसी और माइक्रोवव की मिलती है सुविधा

    अमेरिकी विदेश विभाग ने पिछले सप्ताह ही कहा था कि अफगानिस्तान के लिए विशेष प्रतिनिधि जाल्मे खलीलज़ाद कड़ियों की अदलाबदली पर एक समझौते को अमली जामा पहनाने और हिंसा में कमी लाने के लिए इस क्षेत्र की यात्रा करेंगे.

    Tags: Afganistan, Ceasefire violation, Taliban, Terrorism

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर