india china stand off: चीन के साथ आज होगी वार्ता, पोम्पियो का बयान स्मोक बम है, इसे सीरियसली ना लें

भारत और चीन के बीच सैन्य कमांडर स्तर की बैठक 12 अक्टूबर को होगी.
भारत और चीन के बीच सैन्य कमांडर स्तर की बैठक 12 अक्टूबर को होगी.

India China Stand Off: चीन ने माइक पोम्पियो के बयान को 'स्मोक बम' (Smoke Bomb) बताया. चीन ने कहा कि भारत और चीन के बीच वार्ता होने वाली थी और माइक पोम्पियो की इस टिप्पणी से दोनों देशों के बीच वार्ता को बंद नहीं करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 6:57 AM IST
  • Share this:
बीजिंग. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो (Mike Pompeo) ने हाल ही में यह बयान दिया था कि चीन 60 हजार सैनिकों (Sixty Thousand Soldier) की बहाली भारतीय सीमा के आसपास कर रहा है. चीन को अमेरिकी विदेश मंत्री का यह बयान मिर्ची की तरह लगी. यही वजह है कि चीन ने अपने सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स (Global Times) में माइक पोम्पियो के बयान को 'स्मोक बम' (Smoke Bomb) बताया. ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि भारत और चीन के बीच वार्ता होने वाली थी और माइक पोम्पियो की इस टिप्पणी से दोनों देशों के बीच वार्ता को बंद नहीं करना चाहिए. अखबार ने यह भी लिखा है कि भारत और चीन के बीच 12 अक्टूबर यानि आज होने वाली बातचीत पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.

चीन ने भारत की उत्तरी सीमा पर 60 हजार सैनिक तैनात किया: पोम्पियो

अमेरिकी विदोश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा था कि चीन ने भारत की उत्तरी सीमा पर 60 हजार सैनिकों को तैनात किया है. यह बात उन्होंने जापान दौरे के बाद अमेरिका लौटने के बाद एक फॉक्स न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कही थी. साक्षात्कार में अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा था कि हम चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के खतरे से अमेरिकियों को बचाने का लक्ष्य रखते हैं. क्वाड मंत्रिस्तरीय बैठक का हवाला देते हुए कहा कि तीन अन्य देश जापान, भारत और ऑस्ट्रेलिया एक गठबंधन बना रहे हैं. ये देश भी अमेरिका की तरह ही चीनी कम्युनिस्ट पार्टी से खतरे को हमारी तरह सीरियसली लेते हैं.



'अमेरिका इंडो-पैसिफिक रणनीति लागू करने में भारत का इस्तेमाल करेगा'
शंघाई एकेडमी ऑफ सोशल साइंसेज के इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशंस के एक रिसर्च फेलो हू झाइयोंग ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि अमेरिका की ओर से इस तरह की अविश्वसनीय सैन्य खुफिया जानकारी को साझा करने का उद्देश्य उसका इंडो-पैसिफिक रणनीति की तैनाती है और इस काम में वह भारत का इस्तेमाल करेगा.

ये भी पढ़ें: बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ताइवान को दी बधाई, चीन ने कहा- आग में घी ना डालें

PHOTOS: किर्गीस्तान में भड़की जनता, सड़कों पर उतरकर लगाने लगी नारे 

पाकिस्तान में बिस्कुट के विज्ञापन पर बवाल, मंत्रियों ने कहा- हम अश्लीलता बर्दाश्त नहीं करेंगे


उन्होंने कहा कि अमेरिका स्मोक बम के जरिए भारत को अपना सहयोगी बताने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने कहा कि भारत और चीन के बीच स्थिति बिगड़ती है तो अमेरिका पूरी तरह से भारत के साथ खड़ा नहीं होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज