Home /News /world /

तिब्बत की विरासत पर कब्जा करने की मंशा से दलाई लामा के चयन प्रक्रिया में शामिल होना चाहता है चीन : रिनपोछे

तिब्बत की विरासत पर कब्जा करने की मंशा से दलाई लामा के चयन प्रक्रिया में शामिल होना चाहता है चीन : रिनपोछे

रिनपोछे ने कहा कि इस मुद्दे पर दलाई लामा और उनके अनुयायियों को अंतिम फैसला करने का अधिकार है. (फाइल फोटो)

रिनपोछे ने कहा कि इस मुद्दे पर दलाई लामा और उनके अनुयायियों को अंतिम फैसला करने का अधिकार है. (फाइल फोटो)

ग्यांगबंग रिनपोछे (Gyangbung Rinpoche) ने कहा कि जब चीनी सरकार किसी भी तरह के धर्म पर विश्वास नहीं करती तो फिर वह आध्यात्मिक नेता दलाई लामा को चुनने का फैसला कैसे कर सकती है. उन्होंने कहा कि दलाई लामा (Dalai Lama) के उत्तराधिकार को चुनने का मामला धर्म और आस्था से जुड़ा है यह कोई राजनीतिक मामला नहीं है जो चीनी सरकार इसमें हस्तक्षेप करे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: अगले दलाई लामा के चयन को लेकर तवांग मठ (Tawang monastery) के प्रमुख ग्यांगबंग रिनपोछे (Gyangbung Rinpoche) ने बड़ा बयान दिया है. मठ प्रमुख ने कहा कि चीन की सरकार के पास अगले दलाई लामा को चुनने अधिकार नहीं है. उन्होंने कहा कि चीनी सरकार (Chinese government) किसी भी तरह के धर्म पर विश्वास नहीं करती इसलिए वह अगले दलाई लामा का चुनाव नहीं कर सकती. उन्होंने कहा यह एक अध्यात्यमिक मामला है. उन्होंने कहा कि चीन की विस्तारवादी नीति बढ़ती जा रही है जिसका मुकाबला करना बहुत जरूरी है.

    अरुणाचल प्रदेश में स्थित तवांग मठ लगभग 350 साल पुराना है और यह मठ दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मठ है. रिनपोछे ने भारतीय सरकार को आगाह करते हुए कहा कि चीन अपनी विस्तारवादी नीति में तेजी से बढ़ोतरी करता जा रहा है इसलिए भारतीय सरकार को अपनी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर कड़ी निगरानी रखने की जरूरत है. दलाई लामा के चयन पर उन्होंने कहा कि यह तिब्बती धर्म का मामला है और अगला दलाई लामा चुनने का अधिकार सिर्फ वर्तमान दलाई लामा और तिब्बती लोगों को ही है.

    यह कोई राजनीतिक मामला नहीं है
    ग्यांगबंग रिनपोछे ने कहा कि जब चीनी सरकार किसी भी तरह के धर्म पर विश्वास नहीं करती तो फिर वह आध्यात्मिक नेता दलाई लामा को चुनने का फैसला कैसे कर सकती है. उन्होंने कहा कि दलाई लामा के उत्तराधिकार को चुनने का मामला धर्म और आस्था से जुड़ा है यह कोई राजनीतिक मामला नहीं है जो चीनी सरकार इसमें हस्तक्षेप करे.

    यह भी पढ़ें- पाकिस्तानी लड़का बोला- टीम हारी तो टीवी नहीं तोड़ेंगे, अब्बू घर से निकाल देंगे, Video वायरल

    उन्होंने साफ कर दिया कि इस मुद्दे पर दलाई लामा और उनके अनुयायियों को अंतिम फैसला करने का अधिकार है. मठ प्रमुख ने कहा कि अगर चीनी सरकार जबरदस्ती इस मुद्दे पर हस्तक्षेप करती है और अपना फैसला सुनाती है तो वह तिब्बती लोगों को किसी भी तरह से स्वीकार्य नहीं होगा. उन्होंने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा कि चीन सिर्फ तिब्बत की विरासत को हांसिल करना चाहता है और वह सिर्फ इसी मकसद से दलाई लामा के चयन प्रक्रिया में शामिल होना चाहता है. रिनपोछे ने कहा कि चीनी सरकार तिब्बती लोगों पर अपना नियंत्रण रखना चाहती है.

    Tags: China, Dalai Lama, Tawang

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर