पाकिस्तान के क्वेटा में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकी हमला, 60 कैडेट की मौत

पाकिस्तान के अशांत क्वेटा शहर में एक पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर बीती रात पर आतंकवादी हमले में करीब 60 कैडेट की मौत हो गई और 118 घायल हो गए।

  • Share this:
कराची। पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत के क्वेटा शहर में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकियों ने हमला कर दिया है। हमले में ट्रेनिंग ले रहे करीब 60 कैडेट की मौत हो गई है जबकि 118 से ज्यादा सुरक्षाकर्मी घायल बताए जा रहे हैं। खबरों के मुताबिक हमले में तीन आतंकी भी मारे गए हैं। बताया जा रहा है आतंकियों से बीती रात करीब 11 बजे ट्रेनिंग सेंटर पर हमला किया।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कड़े शब्दों में हमले की निंदा की है। वहीं, बलूचिस्तान प्रांत के गृह मंत्री सरफराज बुगती ने बताया है कि 118 लोग हमले में घायल हुए हैं। हमले के बाद सभी हॉस्पिटल में मुख्यमंत्री की तरफ से इमरजेंसी लागू कर दी गई है। रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। सुरक्षा बलों के दस्ते पहुंच रहे हैं।


पाकिस्तानी सेना के मेजर जनरल शेर अफगन के मुताबिक 11 बजकर 10 मिनट पर हमले की इत्तला मिली। बिल्डिंग में एक ही एंट्री प्वॉइंट था इसलिए ऑपरेशन को बड़े ही सर्तकता के साथ करने की आवश्यकता थी। सैनिकों के बिल्डिंग में इंट्री की कोशिश पर दहशतगर्दों ने फायर किया पर जवाबी फायरिंग की गई। एक दशहतगर्द ने पहले ही खुद को उड़ा लिया, दूसरे को सेना ने गिराया। बाद में तीसरे ने भी खुद को उड़ा लिया। दहशतगर्दों का ताल्लुक लश्कर-ए-जंगी से है, ये सभी अफगानिस्तान से ऑपरेट हो रहे थे। इस ऑपरेशन में 3 घंटे लगे।



इससे पहले एक चश्मदीद ने बताया कि आतंकी पुलिस की वर्दी में ट्रेनिंग सेंटर में दाखिल हुए और फिर उन्होंने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। उन्होंने कई बम धमाके भी किए। हर तरफ धुएं का गुबार देखा गया। लोगों इधर-उधर भाग रहे थे।

यह भी बताया जा रहा है कि आतंकियों ने ढाई सौ जवानों को बंधक बनाया था, जिन्हें बाद में रेस्क्यू कर लिया गया। हालांकि रिपोर्ट्स के मुताबिक सेंटर में 500 के करीब कैडिड्स ट्रेनिंग ले रहे थे। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक आतंकियों का संबंध लश्कर-ए-जांगवी नाम के संगठन से हैं।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज