आतंकी संगठन की अमेरिका को चेतावनी-ईरान को छेड़ा तो इजराइल पर गिराएंगे बम

आतंकी संगठन के सरगना हसन नसरुल्ला ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि ईरान युद्ध की स्थिति में पूरी ताकत से इजराइल पर बमबारी करेगा.

News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 5:22 PM IST
आतंकी संगठन की अमेरिका को चेतावनी-ईरान को छेड़ा तो इजराइल पर गिराएंगे बम
हिजबुल्ला की चेतावनी-ईरान को छेड़ा तो इजराइल पर गिराएंगे बम
News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 5:22 PM IST
अमेरिका और ईरान में बढ़ी तनातनी के बीच अब आतंकी संगठन हिजबुल्ला ने चेतावनी दी है कि अगर दोनों देशों के बीच युद्ध की स्थिति बनी तो इजराइल इससे अछूता नहीं रहेगा. आतंकी संगठन के सरगना हसन नसरुल्ला ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि ईरान युद्ध की स्थिति में पूरी ताकत से इजराइल पर बमबारी करेगा.

ईरान की ओर से अपने परमाणु कार्यक्रम को तय सीमा से ज्यादा आगे बढ़ा लिए जाने के बाद अमेरिका ने अपनी नाराजगी दर्ज कराई थी. इसके बाद ट्रंप सरकार ने ईरान पर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए थे. अमेरिका के प्रतिबंध लगाए जाने के बाद ईरान पर अरोप लगाया गया कि उसने समुद्र से गुजर रहे अमेरिका के दो शिप में आग लगा दी है. इस हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया. ईरान पर नजर रखने के लिए अमेरिका ने अपने ड्रोन को भेजा लेकिन ईरानी सेना ने उसे मार गिराया. इसके बाद अमेरिका ने ईरान पर हमले तक का आदेश दे दिया था. हालांकि बाद में ट्रंप को अपना फैसला पलटना पड़ा.



इसे भी पढ़ें :- ईरान के हौसले क्यों हैं बुलंद? कितनी है ईरान की सैन्य ताकत?

नसरउल्ला ने चेतावनी दी है कि जब अमेरिकियों को यह लगेगा कि युद्ध की वजह से इजराइल पूरी तरह से खत्म हो जाएगा, तो वे ऐसा कोई कदम उठाने से बचेंगे. उसने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि क्षेत्र में हम अमेरिका को ईरान पर हमला करने से रोकें. नसरउल्ला ने चेतावनी देते हुए कहा कि सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) कभी नहीं चाहेंगे कि क्षेत्र में संघर्ष की स्थिति पैदा हो.

भारतीय नौसेना ने भी एहतियातन तैनात किए दो पोत
भारतीय नौसेना ने ओमान की खाड़ी में अपने दो युद्धपोत तैनात कर दिए हैं. यह कदम भारत ने अमेरिका-ईरान के बीच बढ़ रहे तनाव और इस दौरान तेल टैंकरों पर हुए हमले के बाद एहतियातन उठाया है. नेवी के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने बताया, हमने विध्वंसक INS चेन्नै और गश्ती पोत INS सुनयना को ओमान की खाड़ी में तैनात कर दिया है. भारत ने अपने इस प्लान को ऑपरेशन संकल्प नाम दिया है. नेवी ने यह कदम सुरक्षा चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए उठाया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...