अपना शहर चुनें

States

मलाला यूसुफजई को नौ साल पहले गोली मारने वाले आतंकी ने फिर दी धमकी, कहा- इस बार नहीं होगी कोई गलती

पाकिस्तानी तालिबान या तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का लंबे समय तक सदस्य रहे एहसान ने युसुफजई से हिसाब बराबर करने की बात कही है. (फाइल फोटो: रॉयटर्स)
पाकिस्तानी तालिबान या तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का लंबे समय तक सदस्य रहे एहसान ने युसुफजई से हिसाब बराबर करने की बात कही है. (फाइल फोटो: रॉयटर्स)

Malala Yousafzai Threat: मलाला लड़कियों की शिक्षा के लिए अभियान चला रही थीं. इससे नाराज आतंकवादी (Terrorist) ने उनपर 9 साल पहले हमला किया था. मलाला की उम्र तब महज 15 साल की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2021, 10:11 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला युसुफजई (Nobel Laureate Malala Yousafzai) पर नौ वर्ष पहले हमला करने वाला पाकिस्तानी तालिबानी आतंकी (Taliban) एक बार फिर सामने आया है. आतंकवादी ने एक बार फिर मलाला को जान से मारने की धमकी दी है. उसने यह संदेश एक ट्वीट के जरिए दिया था, जिसके बाद ट्विटर (Twitter) ने कार्रवाई करते हुए स्थाई तौर पर अकाउंट सस्पेंड कर दिया है. आतंकी ने लिखा इस बार 'कोई गलती नहीं होगी'.

इस धमकी के बारे में यूसुफजई ने खुद ट्वीट करके जानकारी दी और पाकिस्तान की सेना और प्रधानमंत्री इमरान खान दोनों से पूछा कि उन पर हमला करने वाला एहसानुल्लाह एहसान कैसे सरकारी हिरासत से फरार हो गया. एहसान को 2017 में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन जनवरी 2020 में एक तथाकथित सुरक्षित पनाह-गाह से फरार हो गया था, जहां उसे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी द्वारा रखा गया था. उसकी गिरफ्तारी और फरारी दोनों की परिस्थितियों को लेकर विवाद बना हुआ है.

भागने के बाद से एहसान ने उसी ट्विटर अकाउंट के जरिए पाकिस्तानी पत्रकारों के साथ संवाद किया था, जिससे उर्दू भाषा में धमकी दी गई थी. उसके कई ट्विटर अकाउंट रहे हैं, जिनमें से सभी को बंद कर दिया गया है. प्रधानमंत्री के सलाहकार राउफ हसन ने कहा कि सरकार इस धमकी की जांच कर रही है और उसने तुरंत ट्विटर से अकाउंट बंद करने को कहा था .



यह भी पढ़ें: मलाला यूसुफजई ने चेताया- Corona के बाद 2 करोड़ लड़कियां स्‍कूल नहीं लौट पाएंगी
पाकिस्तानी तालिबान या तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का लंबे समय तक सदस्य रहे एहसान ने युसुफजई से हिसाब बराबर करने की बात कही है. उसने लिखा 'घर वापस आ जाओ, क्योंकि हमें तुमसे और तुम्हारे पिता से हिसाब बराबर करना बाकी है.' उसने आगे लिखा 'इस बार कोई गलती नहीं होगी.' आतंकी की इस धमकी के बाद मलाला ने पाकिस्तानी सरकार और सेना को अपने निशाने पर लिया है.

मलाला पर 9 साल पहले स्कूल बस में हमला हुआ था. एक पाकिस्तानी तालिबान आतंकी ने उनपर गोलियां चाला दी थीं. उस समय 15 साल की रहीं मलाला पर लड़कियों की शिक्षा के लिए अभियान चलाए जाने के चलते यह हमला हुआ था.

(एजेंसी इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज