थाईलैंडः रेस्क्यू के बाद बच्चों ने 'विक्ट्री साइन' दिखाकर जाहिर की खुशी, सामने आया पहला वीडियो

8 जुलाई को रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ, शाम तक चार लड़कों को बाहर निकाला गया. अगले दिन चार और लड़के बाहर आए और आखिरी दिन यानी मंगलवार को 4 लड़के और उनके कोच को बाहर निकाला गया.


Updated: July 11, 2018, 10:17 PM IST
थाईलैंडः रेस्क्यू के बाद बच्चों ने 'विक्ट्री साइन' दिखाकर जाहिर की खुशी, सामने आया पहला वीडियो
थाईलैंड के अस्पताल में रेस्क्यू किए गए बच्चों का इलाज चल रहा है. (फोटो-AP)

Updated: July 11, 2018, 10:17 PM IST
थाईलैंड सरकार ने गुफा से रेस्क्यू किए गए सभी 12 बच्चों का एक वीडियो जारी किया है. इलाज के लिए इन बच्चों को चियांग राय स्थित अस्पताल में रखा गया है. वीडियो में बच्चे अपने हाथों से 'यो साइन' दिखाकर अपनी खुशी जाहिर करते दिख रहे हैं.

बता दें कि वाइल्ड बोर्स नाम की फुटबॉल टीम के 12 खिलाड़ी और उनके 25 वर्षीय कोच 23 जून से लापता थे. वे सभी पानी से भरी एक गुफा में फंस गए थे. लापता होने के 9 दिनों बाद थाई नेवी सील के गोताखोरों ने उन्हें गुफा में ढूंढ निकाला. इसके बाद रविवार से मंगलवार तक तीन दिनों तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन में उन सभी को गुफा से बाहर निकाला गया. (छुट्टी रद्द कर बच्चों को बचाने तीन दिन गुफा में रहे डॉक्टर, लौटे तो हो चुकी थी पिता की मौत)

डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे शारीरिक और मानसिक रूप से पूरी तरह स्वस्थ हैं.



बता दें कि 23 जून को ये खिलाड़ी अपने कोच इकापोल के साथ मैच के लिए घर से निकले थे. मैच खत्म होने के बाद वे लोग थाम लुआंग गुफा में चले गए, बारिश होने की वजह से गुफा से बाहर निकलने का एकमात्र रास्ता बंद हो गया और पानी से बचने के लिए कोच और बच्चे गुफा में बेहद अंदर की तरफ चले गए. खिलाड़ियों की साइकिलें गुफा के बाहर थी जिनकी वजह से अधिकारियों को पता चला कि खिलाड़ी गुफा के अंदर ही हैं. इसके बाद गोताखोरों की टीम ने तलाश अभियान शुरू किया. 2 जुलाई को इन खिलाड़ियों को गुफा के अंदर खोजा गया. पहले योजना थी कि गुफा में पानी कम होने के बाद उन्हें वहां से निकाला जाएगा. इसमें करीब 4 महीने का वक्त लगता, योजना थी कि लड़कों को डाइविंग की ट्रेनिंग भी दी जाएगी. हालांकि बाद में बारिश की वजह से संभावित परेशानियों को देखते हुए उन्हें जल्द से जल्द निकालने का फैसला किया गया.

8 जुलाई को रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ, शाम तक चार लड़कों को बाहर निकाला गया. अगले दिन चार और लड़के बाहर आए और आखिरी दिन यानी मंगलवार को 4 लड़के और उनके कोच को बाहर निकाला गया. रेस्क्यू ऑपरेशन के तीन दिन ऑस्ट्रेलियाई डॉक्टर रिचर्ड हैरिस भी गुफा में ही रहे. वह बच्चों का चेकअप करते रहे और उनके फिटनेस लेवल के हिसाब से ही उन्होंने बच्चों को निकालने का क्रम तय किया. कोच को सबसे आखिर में बाहर निकाला गया.

और भी देखें

Updated: September 19, 2018 12:01 PM ISTVIDEO- CM ममता बनर्जी ने पियानो पर छेड़ी 'हम होंगे कामयाब' की धुन
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर