51 नमाजियों की हत्या का दोषी अब सजा कम करवाने के लिए रखेगा अपना पक्ष

51 नमाजियों की हत्या का दोषी अब सजा कम करवाने के लिए रखेगा अपना पक्ष
न्यूजीलैंड में एक व्यक्ति ने 51 नमाजियों की गोली मार कर हत्या कर दी थी.(सांकेतिक तस्वीर)

न्यूजीलैंड की एक मस्जिद (Murder In Mosque) में एक ऑस्ट्रेलियाई व्यक्ति ने वर्ष 2019 में 51 नमाजियों की गोली मार कर हत्या (Fifty One People Murdered) कर दी थी. अब वह अपनी सजा कम कराने के लिए अदालत में खुद का पक्ष रखेगा.

  • Share this:
केन विलियमसन. न्यूजीलैंड की एक मस्जिद (Murder In Mosque) में एक ऑस्ट्रेलियाई व्यक्ति ने वर्ष 2019 में 51 नमाजियों की गोली मार कर हत्या (Fifty One People Murdered) कर दी थी. अदालत ने उसे हत्या का दोषी (Guilty Of Murder) पाया था लेकिन उस व्यक्ति ने सजा सुनाने के ठीक एक महीने पहले अदालत में अपना पक्ष रखने का फैसला किया है. ब्रेंटन टोरेंट नाम के इस आदमी पर 51 लोगों की हत्या के आरोप के लगे हैं. वहीं 40 मामले हत्या के प्रयास के आरोपों से जुड़े हैं. इस पर आतंकवादी अधिनियम के तहत भी एक मामला दर्ज किया गया है.

आरोपी के पक्ष रखने से सजा की सुनवाई नहीं होगी प्रभावित: जज

न्यायाधीश कैमरून मंडेर ने अदालत में एक सुनवाई में कहा कि 24 अगस्त से शुरू हो रही सुनवाई में टोरेंट का खुद का प्रतिनिधित्व करने का निर्णय सजा की सुनवाई को प्रभावित नहीं करेगा. जज ने सुनवाई से पहले हुई एक वीडियो कॉल में टोरेंट के अनुरोध को मंजूरी दे दी. जज इस बात से संतुष्ट हो गए कि टोरेंट कानूनी प्रतिनिधित्व के अपने अधिकारों को अच्छी समझ गया है और वह उन अधिकारों को इस्तेमाल करना चाहता है.



'अप्रैल से ही आरोपी अपना पक्ष रखना चाह रहा है'
टोरेंट के वकीलों ने कहा कि इस अनुरोध को उनके और टोरेंट के बीच संबंध तोड़ने से जोड़कर न देखा जाये और यह उसके भले के लिए ही है. टोरेंट का वकील पिछले साल 5 अप्रैल से उसके लिए कोर्ट में उसका पक्ष रख रहा है. उसने कहा कि टोरेंट ने ही उससे कहा है कि वह अपना पक्ष रखना चाहता है और अपनी सजा कम करवाना चाहता है. इस विषय पर न्यूजीलैंड हेराल्ड ने एक रिपोर्ट में कहा है कि हमले में जीवित बचे लोगों और पारिवारिक संपर्क प्रतिनिधियों की उपस्थिति में क्राइस्टचर्च के उच्च न्यायालय ने सोमवार को सजा की तारीख की औपचारिक पुष्टि कर दी थी.

ये भी पढ़ें: अमेरिकी नौसेना के जहाज में विस्फोट और भयंकर आग लगने से 21 लोग घायल

मोदी सरकार ने हमें दुनिया से काटने की कोशिश की, नहीं मिली सफलता: पाकिस्तान

टोरेंट 15 मार्च, 2019 से पुलिस हिरासत में है जब उसे क्राइस्टचर्च शहर में सेमी ऑटोमैटिक हथियारों का उपयोग कर दो मस्जिदों में शुक्रवार की नमाज में शामिल होने वाले मुसलमानों की हत्या करने के कारण गिरफ्तार किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading