Home /News /world /

जिस मौलाना ने औरतों के छोटे कपड़ों को बताया कोरोना की वजह वो खुद पहले सिंगर था

जिस मौलाना ने औरतों के छोटे कपड़ों को बताया कोरोना की वजह वो खुद पहले सिंगर था

अपनी पढ़ाई के दिनों में मौलाना बतौर सिंगर मशहूर थे और कॉलेज के कार्यक्रमों में हिस्‍सा लिया करते थे. फोटो साभार/ट्विटर

अपनी पढ़ाई के दिनों में मौलाना बतौर सिंगर मशहूर थे और कॉलेज के कार्यक्रमों में हिस्‍सा लिया करते थे. फोटो साभार/ट्विटर

हाल में मौलाना तारिक जमील ने 'मीडिया झूठा' है बयान दिया था, इसके बाद वह मीडिया के निशाने पर आ गए थे. वहीं इससे पहले वह यह कह कर कि 'महिलाओं के छोटे कपड़े पहनने से कोरोना वायरस जैसा खतरा आया है' आलोचना का निशाना बने.

    इस्‍लामाबाद. पाकिस्‍तान (Pakistan) के मशहूर मौलाना तारिक जमील (Tariq Jamil) अगर मौलाना न होते तो शायद सिंगर (Singer) होते. वह अपनी पढ़ाई के दिनों में बतौर सिंगर मशहूर थे. 'हमारी वेब डॉट कॉम' की खबर के हवाले से बताया गया है कि उनकी आवाज बहुत अच्छी थी और वह अक्सर कॉलेज के कार्यक्रमों में बतौर गायक हिस्‍सा लिया करते थे. बताया जाता है कि सुनने वाले उनकी आवाज को बहुत पसंद करते थे.

    अपने बेतुके बयानों की वजह से आलोचना का निशाना बनते रहे हैं
    हाल में मौलाना तारिक जमील (Tariq Jamil) 'मीडिया झूठा' है अपने इस बयान को लेकर सुर्खियों में रहे और आलोचना का निशाना भी बने. पाकिस्‍तान ही नहीं पूरी दुनिया में वह एक प्रचारक और धर्मशास्त्री के रूप में जाने जाते हैं. उनका जन्म 1 अक्टूबर, 1953 को मियां पंजाब के शहर खानवेल के जिला चन्नू के एक जमींदार परिवार में हुआ था. उनके पिता का संबंध मुस्लिम राजपूत जमात से था. मौलाना के पिता चाहते थे कि वे डॉक्टर बनें, इसलिए अपनी प्राथमिक शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने लाहौर के किंग एडवर्ड मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस में दाखिला लिया.

    न सिंगर बने और न ही पिता की मर्जी के मुताबिक डॉक्‍टर बने 
    अपनी पढ़ाई के दौरान हॉस्‍टल में उनका एक दोस्‍‍‍त उन्‍हें नमाज के लिए बुलाने आया, मगर मौलाना समझे कि वह उन्‍हें फिल्म दिखाने के लिए आया है. वहीं इस बात को खुद मौलाना ने स्‍वीकार किया है कि उनके दोस्त ने जब उनसे तबलीग के लिए चलने को कहा, तो उन्‍होंने साफ इंकार कर दिया. हालांकि दोस्‍त के जबरदस्‍ती करने पर वह मान गए. वह सिंगर तो नहीं बने, लेकिन पिता की मर्जी के मुताबिक डॉक्‍टर भी नहीं बने. जब उन्‍होंने बताया कि वह धार्मिक विद्वान बनना चाहते हैं, तो उनके पिता और परिवार के लोग उनसे बहुत नाराज हो गए. यहां तक कि उनके माता-पिता ने उनसे बोलना तक छोड़ दिया.

    गौरतलब है कि हाल में मौलाना तारिक जमील ने 'मीडिया झूठा' है बयान दिया था, इसके बाद वह मीडिया के निशाने पर आ गए थे. वहीं इससे पहले वह यह कह कर कि 'महिलाओं के छोटे कपड़े पहनने से कोरोना वायरस जैसा खतरा आया है' आलोचना का निशाना बने.

    ये भी पढ़ें - पाकिस्‍तान के सिंध सूबे में 10 साल से कम उम्र के 182 बच्‍चे कोरोना का शिकार

                     PAK में सुरक्षात्‍मक उपाय सिर्फ शहरी मस्जिदों तक सीमित, संक्रमण का खतरा


    undefined

    Tags: Islamabad, MBBS, Pakistan

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर