लाइव टीवी

शोध में चौंकाने वाली बात सामने आई कि मौत एक खूबसूरत एहसास है

News18Hindi
Updated: February 3, 2020, 12:38 PM IST
शोध में चौंकाने वाली बात सामने आई कि मौत एक खूबसूरत एहसास है
मौत की नींद सोए एक व्‍यक्ति ने शोधकर्ताओं को बताया कि जब वह मौत की नींद से जागा तो उसके मन में सुकून था और खुशी का एहसास था.

शोध में क्षण भर के लिए मौत की नींद सोकर जागे लोगों से पूछा गया तो उनका कहना था कि मौत का एहसास ऐसा था कि जैसे मैं किसी जानी-पहचानी जगह पर गहरी नींद से जागा हूं और मुझमें डर या डर नाम की कोई चीज नहीं थी. दिल में शांति ही शांति और खुशी भरी भावनाएं थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2020, 12:38 PM IST
  • Share this:
इंसान अपनी जिंदगी में सबसे ज्‍यादा मौत से डरता है. उसकी पूरी कोशिश होती है कि वह लंबी उम्र पाए और मौत उससे दूर रहे, लेकिन एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि मौत एक खुशी देने वाला
लम्‍हा है और इससे इंसान को इतनी भरपूर खुशी हासिल होत है कि वह दोबारा जिंदगी की तरफ लौटने की ख्‍वाहिश छोड़ देता है.

कुछ रिपोर्ट (Report) में बताया गया है कि दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मरने के चंद ही पल बाद दोबारा जिंदगी की ओर लौट आए हैं. जिंदगी की लड़ी कुछ ही पल के लिए टूटने और फिर दोबारा जुड़ जाने के एहसास ऐसे लोगों के लिए इतनी खुशी भरे होते हैं कि वह उन जज्‍बात को शब्‍दों में व्‍यक्‍त करने की स्थिति में नहीं होते.

Plos One नाम के जर्नल में प्रकाशित होने वाली अलग तरह के इस पहले और चौंकाने वाले शोध में बताया गया है कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता (Artificial Intelligence) का इस्‍तेमाल करते हुए 158 दर्ज की गई घटनाओं का बारीकी से निरीक्षण किया गया. यह ऐसे लोगों की लिखी गई घटनाएं थीं, जो मृत्‍यु के क्षण भर के अनुभव से गुजर चुके थे.

ऐसे लोगों की बताई गई बातों में 'देखना' और 'रौशनी' जैसे शब्‍द बार-बार इस्‍तेमाल किए गए थे और 'डर' और 'मृत' जैसे शब्‍दों का इस्‍तेमाल बहुत कम था. कनाडा (Canada) की वेस्‍टर्न यूनिवर्सिटी (Western University) और बेल्जियम की यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों के मुताबिक उनके शोध के नतीजे ऐसे सुबूत हैं
जो यह बताते हैं कि लोग जब मौत के बहुत करीब पहुंचते हैं तो उनकी भावनाएं वैसी नहीं रहतीं जैसी कि दुनिया में होती हैं.

शोध में बताया गया है कि कैनेडियन पैरामेडिकल टीम (Canadian Paramedical team) के एक सदस्‍य एडम टीप को जब एक घटना में बिजली का झटका लगात तो वह 11 मिनट के लिए मुर्दा रह थे, लेकिन बाद में जब उन्‍हें जिंदगी की ओर लौटे तो उन्‍होंने अपने एहसास एक टीवी इंटरव्‍यू में व्‍यक्‍त किए.उन्‍होंने इस इंटरव्‍यू में बात करते हुए कहा कि मौत का एहसास ऐसा था कि जैसे मैं किसी जानी-पहचानी जगह पर गहरी नींद से जागा हूं और मुझमें डर और डर नाम की कोई चीज नहीं थी. दिल में शांति ही शांति और खुशी भरी भावनाएं थीं.

इस शोध में ऐसी घटनाओं से गुजरने वाले लोगों से इस तरह के सवाल किए जाते थे कि क्‍या आप पर खुशी और सुकून भरी स्थिति थी? और क्‍या आपने खुद को अपने शरीर से अलग महसूस किया था? उस समय क्‍या भावनाएं आपके मन में थीं? यह अपनी तरह का पहला ऐसा शोध है जिसमें कृत्रिम बुद्धिमत्ता का इस्‍तेमाल किया गया, इसमें पूछे गए सवालों केे आधुनिक तकनीक को मद्देनजर रखते हुए जवाब पाए गए.
ये भी पढ़ें- लड़की का आरोप-हॉट तस्‍वीरें पोस्‍ट कींं तो मुझे नौकरी से निकाल दिया

             बुर्किना फासो में जिहादियों ने किया हमला, 18 आम नागरिकों की मौत

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 12:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर