चांद की सतह के अंदर छिपा हो सकता है कीमती धातुओं का भंडार: स्टडी

कनाडा (Canada) के डलहौजी विश्वविद्यालय में जेम्स ब्रेनन का कहना है कि हम चांद पर मौजूद ज्वालामुखी पत्थरों (Stones) में पाए जाने वाले सल्फर का संबंध चांद (Moon) के गर्भ में छुपे आयरन सल्फेट से जोड़ने में सफल रहे हैं.

भाषा
Updated: September 4, 2019, 12:54 PM IST
चांद की सतह के अंदर छिपा हो सकता है कीमती धातुओं का भंडार: स्टडी
चांद की धरती में छिपा हो सकता है मूल्यवान धातुओं का भंडार: स्टडी (प्रतीकात्मक तस्वीर)
भाषा
Updated: September 4, 2019, 12:54 PM IST
टोरंटो: धरती और चांद (Earth and Moon) पर मूल्यवान धातु की मौजूदगी के संबंध में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक, पृथ्वी (Earth) के इकलौते उपग्रह (Satellite) के गर्भ में मूल्यवान धातुओं का बड़ा भंडार छुपा हो सकता है.

कनाडा (Canada) के डलहौजी विश्वविद्यालय में प्रोफेसर जेम्स ब्रेनन का कहना है कि हम चांद पर मौजूद ज्वालामुखी पत्थरों (Stones) में पाए जाने वाले सल्फर का संबंध चांद (Moon) के गर्भ में छुपे आयरन सल्फेट से जोड़ने में सफल रहे हैं. ब्रेनन का कहना है कि धरती पर मौजूद धातु भंडार की जांच से पता चलता है कि प्लैटिनम और पलाडियम जैसी मूल्यवान धातुओं की मौजूदगी के लिए आयरन सल्फाइड बहुत महत्वपूर्ण है.

करीब 4.5 अरब साल पहले हुआ चांद का निर्माण
वैज्ञानिकों का लंबे समय से अनुमान है कि चांद का निर्माण धरती से निकले एक बड़े ग्रह के आकार के गोले से करीब 4.5 अरब साल पहले हुआ है. दोनों के इतिहास में समानता की वजह से ऐसा माना जाता है कि दोनों की बनावट भी मिलती-जुलती है.

‘नेचर जियोसाइंस’ में प्रकाशित अध्ययन में चांद को लेकर किए गए अध्ययन का ब्यौरा दिया गया है.

प्रोफेसर जेम्स ब्रेनन ने कहा ‘हमारे नतीजे बताते हैं कि चंद्रमा की चट्टानों में सल्फर की मौजूदगी, उसकी गहराई में आयरन सल्फाइड की उपस्थिति का अहम संकेत है. हमारे विचार से, जब लावा बना तब कई बहुमूल्य धातुएं पीछे दब गईं.’

ये भी पढ़ें-
Loading...

UNICEF की बैठक में पाक उठा रहा था कश्मीर का मुद्दा, भारत ने यूं की बोलती बंद

लंच और डिनर में खाता था फास्ट फूड तो चली गई आंखों की रोशनी, आप भी संभल जाएं!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 12:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...