Home /News /world /

the us supreme court decision on abortion the right to same sex marriage also increased risk

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के गर्भपात पर फैसले के बाद सेम-सेक्स मैरिज के अधिकार पर भी जोखिम बढ़ा

सुप्रीम कोर्ट के गर्भपात पर फैसले के बाद अमेरिका में सेम-सेक्स मैरिज पर खतरा (सांकेतिक तस्वीर)

सुप्रीम कोर्ट के गर्भपात पर फैसले के बाद अमेरिका में सेम-सेक्स मैरिज पर खतरा (सांकेतिक तस्वीर)

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में महिलाओं को 1973 में दिए गए गर्भपात के संवैधानिक अधिकार को खत्म कर दिया है. इसके बाद वहां सेम-सेक्स मैरिज और गर्भनिरोधकों के उपयोग के अधिकार के खत्म होने का जोखिम बढ़ गया है.

वाशिंगटन. अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने 1973 में रो बनाम वेड मामले में अपने एक फैसले में महिलाओं को दिए गए गर्भपात के संवैधानिक अधिकार को खत्म कर दिया है. इसके बाद वहां सेम-सेक्स मैरिज और गर्भनिरोधकों के उपयोग के अधिकार के भी खत्म होने की अटकलें लगाई जाने लगी हैं. उदार सामाजिक नियमों के पक्षधर लोगों की राय है कि अब रूढ़िवादियों के लिए समलैंगिक विवाह को चुनौती देने का रास्ता साफ हो गया है. इसके लिए रूढ़िवादी जल्द ही अपनी मांग को सामने रखने के लिए आगे आ सकते हैं.

एनडीटीवी डॉटकॉम की एक खबर के मुताबिक इस आशंका को सुप्रीम कोर्ट के फैसले से भी बल मिला है. जिसमें एक न्यायाधीश जस्टिस क्लेरेंस थॉमस ने यह साफ कर दिया कि संविधान के 18वीं शताब्दी के निर्माताओं ने जिन अन्य अधिकारों का स्पष्ट उल्लेख नहीं किया है, ‘भविष्य के मामले’ उन अधिकारों को कम कर सकते हैं. जस्टिस थॉमस ने सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसलों का जिक्र करते हुए कहा कि इन्होंने ही गर्भनिरोधक, समान-सेक्स और समान-लिंग विवाह को वैध बनाया. सुप्रीम कोर्ट के फैसलों ने उन अधिकारों को स्थापित किया जिन्हें बिल ऑफ राइट्स (Bill or Rights) में स्पष्ट रूप से शामिल नहीं किया गया था.

क्या है 1973 का अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट का गर्भपात अधिकार पर फैसला? जिसे बदलने के विरोध में हैं महिलाएं

उदारवादियों का मानना है कि जस्टिस थॉमस की राय रूढ़िवादियों के लिए समलैंगिक विवाह को चुनौती देने के लिए तुरंत एक अभियान शुरू करने के लिए संकेत का काम कर सकती है. कुछ लोगों को इस बात का संदेह है कि स्थानीय अधिकारी धार्मिक आपत्तियों के आधार पर समलिंगी जोड़ों को विवाह प्रमाणपत्र देने से इनकार करना शुरू कर सकते हैं. जिससे नई चुनौतियां पैदा होना शुरू हो सकती हैं. केंटकी के किम डेविस 2015 में ऐसा करने की कोशिश करने के बाद रूढ़िवादी लोगों के प्रिय बन गए थे. आशंका है कि भविष्य के ऐसे दर्जनों किम डेविस सामने आ सकते हैं. जल्द ही या बाद में ये मामले सुप्रीम कोर्ट में पहुंचेंगे और अदालत फिर समलैंगिक विवाह के अधिकार को समाप्त कर सकती है.

Tags: Abortion, America, Same Sex Marriage, Supreme Court

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर