लाइव टीवी

VIDEO: हमले रोकने की अपील करते हुए रोते-रोते गिर पड़ीं इस देश के राष्ट्रपति की पत्नी

News18Hindi
Updated: February 20, 2020, 7:07 PM IST
VIDEO: हमले रोकने की अपील करते हुए रोते-रोते गिर पड़ीं इस देश के राष्ट्रपति की पत्नी
जाम्बिया के राष्ट्रपति की पत्नी एस्थर लुंगु को लोगों ने आकर उठाया

एक नाटकीय घटनाक्रम (Dramatic Events) में जाम्बिया (Zambia) की प्रथम महिला (First Woman) मंगलवार को रोते-रोते अपने घुटनों पर बैठ गईं और उन्हें फिर से उनके पैरों पर खड़ा किए जाने और आराम देने के लिए लोगों को सहारा देना पड़ा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2020, 7:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कुछ गैंग्स के गैस छोड़कर लोगों से लूटपाट और चोरी के मामलों (Robbery and Theft Cases) को रोकने की अपील करते हुए अफ्रीकन देश जाम्बिया की प्रथम महिला एस्थर लुंगु (Zambia's First woman Esther Lungu) रोने लगीं.

एक नाटकीय घटनाक्रम (Dramatic Events) में जाम्बिया (Zambia) की प्रथम महिला मंगलवार को रोते-रोते अपने घुटनों पर बैठ गईं और उन्हें फिर से खड़ा करने और आराम देने के लिए लोगों को सहारा देना पड़ा.

गैस हमलों को रोकने की अपील करते हुए रो पड़ीं जाम्बिया की पहली महिला
राष्ट्रपति की पत्नी महिलाओं के एक समूह से बात करते हुए शांत दिख रही थीं. इस दौरान वो जाम्बिया में कई जगह हो रहे रहस्यमयी गैस हमलों को रोकने के लिए अपील कर रही थीं. लेकिन तभी उन्होंने महिलाओं के सामने ऐसा कर रहे समूहों से अपील की- 'मैं इन गैस हमलों के पीछे जो समूह हैं, उनसे एक ईमानदार अपील करती हूं कि जो कि निर्दोष स्कूली बच्चों (Innocent School Children), निर्दोष परिवारों को भी इसका निशाना बना चुके हैं. कि यह एक शर्मिंदगी की बात है.' इतना कहने के बाद वो ऐसा कर रहे समूहों से इसे रोकने की अपील करते हुए रोने लगीं. वो इस दौरान खुद के जाम्बिया की प्रथम महिला होने की दुहाई भी दे रही थीं और गैस हमलों को रोकने की अपील कर रही थीं.






रहस्यमयी गैस हमलों से परेशान है जाम्बिया का प्रशासन
जाम्बिया इन दिनों रहस्यमयी गैस अटैक के दौर से गुजर रहा है. ऐसे हमले देश के कई हिस्सों में सामने आए हैं, जिनमें लोगों को एक रहस्यमयी गैस को छोड़कर लूट लिया गया है. ऐसी तस्वीरें भी सामने आई हैं जब इस रहस्यमयी गैस (Mysterious Gas) के जरिए स्कूल में बच्चों को निशाना बनाया गया. इसके अलावा कुछ लोगों ने जाम्बिया में यह भी आरोप लगाया है कि इस रहस्यमयी गैस के जरिए उन्हें बेहोश कर उनके शरीर से खून निकाला गया, जिसका उपयोग तांत्रिक क्रियाओं में किया गया.

सत्ताधारी दल और विपक्ष इन हमलों के लिए एक-दूसरे को ठहराते हैं जिम्मेदार
एस्थर लुंगु के पति और जाम्बिया के राष्ट्रपति पहले ही इन हमलों के पीछे जो गैंग हैं, उनके संदिग्धों की गिरफ्तारी में मदद करने वालों के लिए 2,50,000 जाम्बियन क्वाचा (Zambian Kwacha) का इनाम घोषित कर चुके हैं. यह रकम भारतीय रुपये में करीब 12 लाख 22 हजार रुपये होगी.

एक फेसबुक पोस्ट (Facebook Post) में राज्य के प्रमुख ने लिखा था कि निर्दोष नागरिकों पर अपराधियों द्वारा गैस अटैक एक बहुत ही गैर-जाम्बियन हरकत है और साथ ही साथ उन्होंने इसके साथ ही उनकी सरकार पर हमले का आरोप लगाने वालों को पागल करार दिया था. बता दें कि जाम्बिया के सत्ताधारी दल और विपक्ष एक-दूसरे पर इन हमलों में हाथ होने का आरोप लगाते रहे हैं.

यह भी पढ़ें: दुनिया को Cut+Copy+Paste देने वाले साइंटिस्ट नहीं रहे
First published: February 20, 2020, 6:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading