पाकिस्‍तान में हो सकती है लॉकडाउन खोलने की घोषणा, मगर मास्‍क के दाम आसमान पर

पाकिस्‍तान में हो सकती है लॉकडाउन खोलने की घोषणा, मगर मास्‍क के दाम आसमान पर
पाकिस्‍तान में N95 मास्क बाजार में 1,800 रुपये में उपलब्ध है, जबकि कोरोना के फैलने से पहले यही मास्क 250 रुपये में उपलब्ध था. फोटो साभार/एपी

इस संबंध में वाणिज्य मंत्रालय के महानिदेशक वकास अजीम ने कहा कि स्थानीय स्तर पर बनाए गए एन-95 और सर्जिकल मास्क अभी तक बाजार में नहीं आए हैं. सरकार ने मास्क और सैनिटाइजर के निर्यात की घोषणा की है कि हम इन उत्पादों को निर्यात करने की स्थिति में हैं, लेकिन अभी तक कुछ भी निर्यात नहीं किया गया है, क्योंकि सभी उत्पाद अभी भी विनिर्माण स्तर पर हैं और उनके गुणवत्ता मानक निर्धारित किए जा रहे हैं.

  • Share this:
इस्‍लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) की केंद्रीय सरकार ने शनिवार से देश भर में चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन (Lockdown) खोलने की घोषणा की है, जिसके बाद सामान्य स्थिति लौटने की उम्मीद है. मगर कोरोना (Corona virus) को रोकने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले मास्क, दस्ताने और सैनिटाइजर की कीमतें देश में लगातार बढ़ रही हैं.

इस्लामाबाद में एक बड़ी फार्मेसी के प्रबंधक यूसुफ अंसारी ने 'उर्दू न्‍यूज' को बताया कि सरकार की इस घोषणा के बावजूद कि देश में बड़ी मात्रा में तीन उत्पादों का उत्पादन किया जा रहा है और पाकिस्तान इन्हें निर्यात करने की स्थिति में है, मगर इनकी कीमतों में तत्काल कमी की कोई संभावना नजर नहीं आ रही उनके मुताबिक इस वक्‍त भी स्‍थानीय बाजार में N-95 मास्क हर मेडिकल स्‍टोर पर उपलब्ध नहीं हैं,
क्योंकि इसकी कीमत अभी भी बहुत अधिक है और आम नागरिक इसे खरीदने की जुर्रत नहीं कर सकते.

250 वाला मास्‍क 1,800 रुपये में मिल रहा



अब भी N95 मास्क बाजार में 1,800 रुपये में उपलब्ध है, जबकि कोरोना के संक्रमण के फैलने से पहले यही मास्क 250 रुपये में उपलब्ध था. वहीं एक आम सर्जिकल मास्क कोरोना के आने से पहले हम इसे बाजार में पांच रुपये में बेचते थे, जबकि थोक में हम इसे तीन से चार रुपये में लेते थे. अब हमें यह 18 रुपये में मिलता है और हम इसे ग्राहक को 20 रुपये में बेचते हैं. उन्‍होंने आगे कहा कि इसी तरह सुरक्षात्मक दस्तानों का एक बॉक्स कोरोना के फैलने से पहले बाजार में 700 रुपये का था, जो अब 1,000 रुपये तक में उपलब्ध है. वहीं सैनिटाइजर का 100 मिमी का पैक अब 250 रुपये में उपलब्ध है. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के आने के बाद सामान्य सर्जिकल मास्क 30 रुपये तक पहुंच गया था, लेकिन अब इसकी कीमत 20 रुपये पर रुक गई है. उन्होंने कहा कि इन वस्तुओं की कीमतों में फिलहाल कमी की संभावना नहीं है, क्योंकि कोरोना बीमारी अभी भी फैल रही है.



कारखानों से उत्पाद बाजार में आएंगे, तो कीमतें होंगी कम
दूसरी ओर ड्रग रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ पाकिस्तान (DRAP) के अधिकारी, जो देश में दवाओं की कीमतों को नियंत्रित करते हैं, उनका कहना है कि मास्क, दस्ताने और सैनिटाइजर की कीमतों को ठीक करना उनकी शक्ति में नहीं है. वहीं इस संबंध में वाणिज्य मंत्रालय के महानिदेशक वकास अजीम ने कहा कि स्थानीय स्तर पर बनाए गए एन-95 और सर्जिकल मास्क अभी तक बाजार में नहीं आए हैं. सरकार ने
मास्क और सैनिटाइजर के निर्यात की घोषणा की है कि हम इन उत्पादों को निर्यात करने की स्थिति में हैं, लेकिन अभी तक कुछ भी निर्यात नहीं किया गया है, क्योंकि सभी उत्पाद अभी भी विनिर्माण स्तर पर हैं और उनके गुणवत्ता मानक निर्धारित किए जा रहे हैं.

वकास अज़ीम के मुताबिक चीन से मास्क और अन्य राहत वस्तुएं स्थानीय बाजार में भी नहीं जा रही हैं क्योंकि उन्हें एनडीएमए के माध्यम से प्रांतीय सरकारों और उनके डॉक्टरों को प्रदान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मास्क, दस्ताने और सैनिटाइजर का मूल्य निर्धारण बाजार की मांग और आपूर्ति की स्थिति से निर्धारित होता है. उन्‍होंने कहा कि अभी इतनी बेहतरी हुई है कि बाजार में चीजें मिलने लगी हैं. पहले जब महामारी फैली, तब ये मास्‍क आदि बाजार से बिल्‍कुल गायब हो गए थे. अभी जब कारखानों से उत्पाद बाजार में आएंगे, तो इनकी कीमतों में कमी आ सकती है.

ये भी पढ़ें - व्हाइट हाउस पहुंचा कोरोना: ट्रंप के सेवक के बाद माइक पेंस की सहयोगी संक्रमित

                अमेरिका ने फिर लगाया आरोप- चीन में कोरोना से हुई ज्यादा मौतें, छुपा लिए आंकड़े

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading