• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • इस्लामोफोबिया फैलाने के आरोप पर भारत को इन मुस्लिम देशों ने दिया समर्थन

इस्लामोफोबिया फैलाने के आरोप पर भारत को इन मुस्लिम देशों ने दिया समर्थन

पाकिस्तान बार-बार भारत पर इस्लामोफोबिया फैलाने के आरोप लगाता रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान बार-बार भारत पर इस्लामोफोबिया फैलाने के आरोप लगाता रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान (Pakistan) पिछले दिनों बार-बार भारत पर इस्लामोफोबिया (Islamophobia) फैलाने के आरोप लगाता रहा है.

  • Share this:
    इस्लामोफोबिया (Islamophobia) फैलाने के आरोप पर कई मुस्लिम देशों (Muslim Countries) ने भारत का समर्थन किया है. पाकिस्तान (Pskistan) के लिए ये बड़े झटके की बात है. पाकिस्तान पिछले दिनों बार-बार भारत पर इस्लामोफोबिया फैलाने के आरोप लगाता रहा है.

    इस मसले पर वो भारत के खिलाफ मुस्लिम राष्ट्रों को एक मंच पर लाने की कोशिश में जुटा था. लेकिन पाकिस्तान अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाया है.

    इस्लामिक देशों के संगठन ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कॉरपोरेशन (OIC) में भारत को घेरने की पाकिस्तान की साजिश नाकाम रही है. इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस मुद्दे पर मालदीव के बाद अब सऊदी अरब और यूएई ने भी भारत का समर्थन किया है.

    इस्लामोफोबिया पर पाकिस्तान की साजिश नाकाम
    बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले ओआईसी में एक वर्चुअल मीटिंग हुई थी. इसमें पाकिस्तान की तरफ से भारत पर आरोप लगाया गया था कि भारत में इस्लामोफोबिया फैलाने की साजिश हो रही है.

    इस मसले पर मालदीव ने अपनी राय पाकिस्तान के उलट रखी. मालदीव की तरफ से कहा गया कि सोशल मीडिया में इस्लामोफोबिया को लेकर कुछ लोगों के कमेंट को भारत की 130 करोड़ की आबादी की राय नहीं मानी जा सकती. ओमान ने भी इस मुद्दे पर भारत का समर्थन किया है. ओमान की तरफ से कहा गया है कि ये भारत का अंदरूनी मसला है.

    उलटा पड़ गया पाकिस्तान का दांव
    पाकिस्तान काफी दिनों से इस्लामोफोबिया को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश में लगा था. पिछले दिनों यूएन में पाकिस्तान के पीआरओ मुनीर अकरम ने भारत के खिलाफ यूएन में कार्रवाई करवाने के लिए एक छोटा वर्किंग ग्रुप बनाने की कोशिश में लगे थे. इसलिए उन्होंने ओआईसी में इस मसले को उठाकर भारत को बदनाम करके उसके खिलाफ एक ग्रुप बनाने की कोशिश की थी. लेकिन उसका दांव उलटा पड़ गया.

    पहले मालदीव ने इसका विरोध किया. उसके बाद सऊदी अरब, यूएई और ओमान ने भी इस मुद्दे पर भारत का समर्थन किया है. हालांकि ओआईसी के कई सदस्य देशों ने इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया नहीं दी है.

    एक रिपोर्ट के मुताबिक तुर्की ने पाकिस्तान का साथ दिया है. बताया जा रहा है कि इसके पीछे एक वजह ये हो सकती है कि तुर्की ओआईसी में सऊदी अरब और यूएई की मजबूती को खत्म करना चाहता है. वहीं मलेशिया ने इस मसले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

    ये भी पढ़ें:

    अगले हफ्ते से खुल जाएंगे ब्रिटेन के स्कूल, सुरक्षा के होंगे ये उपाय

    चीन ने ऑस्ट्रेलिया को दी धमकी- अमेरिका का साथ दिया तो बहुत दर्द होगा

    लॉकडाउन के दौरान भी शाही शौक पूरे कर रही हैं महारानी, 22 सेवादारों की फौज तैनात

    डायबिटीज के मरीजों को लॉकडाउन हटने के बाद भी रहना होगा घरों के अंदर

    जापान में हटाई गई कोरोना के चलते लगी इमरजेंसी, पीएम शिंजो आबे ने किया ऐलान

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज