फिल्म उरी के 'गरुड़' जैसा दिखता है ये ड्रोन, पंख हिलाकर आसमान में उड़ता है

ड्रोन को चीन की गुआंग्सी यूनिवर्सिटी ने निजी फर्म बी-ईटर टेक्नोलॉजी के इंजीनियरों के साथ मिलकर तैयार किया है.

ड्रोन को चीन की गुआंग्सी यूनिवर्सिटी ने निजी फर्म बी-ईटर टेक्नोलॉजी के इंजीनियरों के साथ मिलकर तैयार किया है.

इस रोबोट ड्रोन को चीन (China) की गुआंग्सी यूनिवर्सिटी (Guangxi University) ने निजी फर्म बी-ईटर टेक्नोलॉजी (Bee-Eater Technology) के इंजीनियरों के साथ मिलकर तैयार किया है. इस तरह के ड्रोन को ऑर्निटहॉप्टर कहा जाता है.

  • Share this:
बीजिंग. बॉलीवुड फिल्‍म उरी में सर्जिकल स्‍ट्राइक (Surgical Strike) के दौरान जिस तरह से एक गरुड़ ड्रोन (Drone) को आतंकियों पर नजर रखने के लिए लगाया गया था. ठीक उसी तरह का गरुड़ ड्रोन तैयार किया गया है. इस रोबोट ड्रोन को चीन (China) की गुआंग्सी यूनिवर्सिटी (Guangxi University) ने निजी फर्म बी-ईटर टेक्नोलॉजी के इंजीनियरों के साथ मिलकर तैयार किया है.

गुआंग्सी यूनिवर्सिटी और बी-ईटर टेक्नोलॉजी के इंजीनियरों ने इस रोबोट को तैयार करने के लिए एल्‍यूमिनियम ज्‍वाइंट्स का इस्‍तेमाल किया है. इसके साथ ही सफेद रंग के इस गरुड़ को तैयार करने के लिए थ्री-डी प्रिंटेड प्लास्टिक पार्ट्स लगाए गए हैं. इसे असली गरुड़ जैसा दिखाने के लिए इसमें फोम और बत्‍तख के पंख लगाए गए हैं.

Bollywood, Uri, Surgical Strike, Drone, China, Guangxi University



पक्षियों के आकार के ड्रोन पहले भी बनते रहे हैं. इस तरह के ड्रोन को ऑर्निटहॉप्टर कहा जाता है. इस तरह के ड्रोन को तैयार करते समय इस बात का ध्‍यान रखा जाता है कि रोबोटिक ड्रोन के पंख फड़फड़ाएं. या वो चमगाडदड़ों और कीड़ों की तरह उड़कर दिखाए. इस ड्रोन को तैयार करने में इंजन या फिर बैटरी का इस्‍तेमाल किया जाता है.
इसे भी पढ़ें :- होंडा की बाइक में मिलेगा ड्रोन, आपकी एक कमांड में उड़ने लगेगा Drone, जानें सबकुछ

गुआंग्सी यूनिवर्सिटी और बी-ईटर टेक्नोलॉजी के इंजीनियरों ने जिस ड्रोन को तैयार किया है वह देखने में बिल्‍कुल भी रोबोट जैसा नहीं दिखता है. इसके साथ ही उसके पंख जब हिलते हैं तो उसमें पंखों जैसी आवाज भी आती है. इसके अलावा ये ड्रोन पक्षी की तरह आवाज भी करता है. गरुड़ ड्रोन जैसे ऑर्निटहॉप्टर के जरिए हवाई निगरानी का काम सबसे ज्यादा किया जाता है. इनकी आंखों और शरीर के निचले हिस्से में लगे कैमरे से काफी दूर तक की तस्वीरें ली जा सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज