तेरह बच्‍चों का पिता है यह 'टिकटॉक स्‍टार', कर चुका है तीन शादियां

भोजपुर में विवादित टिक-टॉक बनाने वाला गिरफ्तार (सांकेतिक चित्र)

महिला का आरोप है कि उसका पति अपनी पत्‍नी और बच्‍चों का ख्‍याल नहीं रखता, बल्कि सिर्फ उनकी देखभाल करता है, जो उसकी तरह टिकटॉक वीडियो बनाते हैं.

  • Share this:
    इस्‍लामाबाद. पाकिस्‍तान (Pakistan) में टिकटॉक वीडियो बनाने वाले 13 बच्‍चों के पिता से अपने 2 नाबालिग बेटों की कस्टडी के लिए महिला ने अदालत से गुहार लगाई है. 'डॉन अखबार' की एक रिपोर्ट के मुताबिक महिला ने अपने पति का नाम 'टॉक टॉक डैडी' रखा है.

    महिला कहना है कि उसका पति टिकटॉक सोशल मीडिया ऐप पर वीडियो पोस्ट करने का इतना आदी है कि इसके लिए वह अपने दोनों बच्चों को भी इसमें साथ लगाए रहता है. महिला ने अदालत को बताया कि उसके पति का नाम वहीद मुराद है. वह चार शादियां कर चुका है और वह उसकी तीसरी पत्नी है.

    एक दर्जन से हैं ज्‍यादा बच्‍चे हैं
    महिला के मुताबिक उसके पति के 13 बच्चे हैं और चार शादियों के अलावा उसने पहले दो शादी की थीं. मगर दोनों में तलाक हो गया. परिवार अदालत के न्यायाधीश  (Judge) समीउल्लाह खान ने महिला की याचिका के बाद वहीद मुराद को नोटिस जारी किया और उन्हें 2 अप्रैल को अदालत में पेश होने का आदेश दिया.

    महिला ने अपने पति पर आरोप लगाया कि वह शादियां करने के बाद अपनी पत्नियों और बच्‍चों का ख्‍याल नहीं रखता, बल्कि सिर्फ उनकी देखभाल करता है, जो उसकी तरह टिकटॉक वीडियो बनाते हैं. महिला ने कहा कि उसके दोनों बेटे भी अपने पिता की तरह टिकटॉक वीडियो बनाने लगे हैं. इसके बाद महिला के पति ने उन दोनों की तालीम रोक दी और उन्‍हें पूरी तरह टिकटॉक वीडियो बनाने पर ही फोकस करने
    को कहा.

    इस एक्‍टर के नाम पर रखा है अपना नाम
    महिला के वकील का कहना है कि उनके पति को टिकटॉक पर एक लाख, 14 हजार लोग फॉलो करते हैं. उसका नाम भी पाकिस्‍तान के मशहूर एक्‍टर और चॉकलेटी हीरो कहलाए जाने वाले वहीद मुराद के नाम पर है. महिला ने अपनी शिकायत में आगे कहा है कि उसका पति न तो मेरी और न ही बच्चों की ही देखभाल करता है. महिला ने आरोप लगाया कि पति उसे बच्चों को स्कूल भेजने के दौरान मारता था, लेकिन अब वह अपने 2 और 7 साल के बेटों को टिक-टॉक वीडियो में एक्टिंग करने के लिए उससे दूर भी ले गया है.

    टिकटॉक वीडियो की खातिर बच्‍चों को किया पढ़ाई से दूर
    अपनी याचिका में महिला ने कहा कि पति ने दोनों बेटों की पढ़ाई टिकटॉक वीडियो की वजह से रुकवा दी और उनकी कुरान की शिक्षा भी बंद कर दी. महिला ने अदालत से अनुरोध किया कि वह पति को उसकी और बच्चों की देखभाल करने का आदेश दे और दोनों बेटों की कस्टडी भी दिलाए, ताकि वह अपने बेटों को स्कूल भेज सके.

    ये भी पढ़ें - इटली में कोरोना वायरस का कोहराम, चीन से भी ज्यादा हुई मौतें

                     जानें दुनिया के दूसरे देशों में मृत्युदंड देने का क्या है तरीका

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.