लाइव टीवी

ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को बताया जोकर

News18Hindi
Updated: January 17, 2020, 7:10 PM IST
ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को बताया जोकर
ईरान के शीर्ष नेता अयातुल्‍ला अली खामनेई ने कहा कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप हमारी पीठ में जहरीला छुरा घोपेगा.

ईरान (Iran) के शीर्ष नेता अयातुल्ला अली खामनेई (Ayatollah Ali Khamenei) ने कहा कि अमेरिका (US) का राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) ईरान के लोगों का समर्थन करने का सिर्फ दिखावा करता है. वह मौका पड़ते ही ईरान को धोखा देगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2020, 7:10 PM IST
  • Share this:
तेहरान. ईरान के शीर्ष नेता अयातुल्ला अली खामनेई (Ayatollah Ali Khamani) ने अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) पर तीखा हमला किया है. उन्‍होंने कहा कि वक्‍त आने पर अमेरिका (US) ईरान की पीठ में जहरीला छुरा घोपेगा. खामनेई ने 2012 के बाद पहली बार शुक्रवार की नमाज को संबोधित करते हुए ट्रंप को जोकर (Joker) करार दिया. उन्‍होंने कहा कि ट्रंप ईरान (Iran) के लोगों का समर्थन करने का दिखावा करता है. इस दौरान उन्‍होंने यह भी कहा कि दुखद विमान हादसा अल-कुद्स फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) की शहादत को कम नहीं कर सकता है.

'ईरान को घुटनों पर लाने का दम पश्चिम के देशों में नहीं'
अयातुल्ला अली खामनेई ने कहा, 'कासिम सुलेमानी के जनाजे ने दिखा दिया कि ईरान के लोग इस्लामिक रिपब्लिक (Islamic Republic) का समर्थन करते हैं. अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट समूह के खिलाफ लड़ने वाले सबसे प्रभावी कमांडर की कायराना तरीके से हत्या की.' उन्‍होंने कहा कि पश्चिम के देशों में इतना दम नहीं हैं कि वे ईरान के लोगों को घुटने के बल ला सकें. ईरान बातचीत के लिए तैयार है, लेकिन अमेरिका के साथ नहीं. सुलेमानी की तारीफ करते हुए खामनेई ने कहा कि ईरान की सीमाओं से अलग उनकी कार्रवाई देश की सुरक्षा के लिए थी. ईरान के लोग दुश्मनों के सामने उनकी दृढ़ता के पक्षधर हैं.

विमान हादसे को भयानक और दुखद घटना करार दिया

खामनेई ने यूक्रेन (Ukraine) के विमान को गलती से गिराने की घटना को भयानक हादसा करार दिया. उन्होंने कहा कि इस विमान दुर्घटना (Plane Crash) ने ईरान के लोगों को जितना दुख पहुंचाया है, उतना ही दुश्मनों को खुशी हुई है. इसने हमारे दिलों को छलनी कर दिया. कुछ लोग चाहते हैं कि इस घटना के बाद ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स के मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की महान शहादत को भुला दिया जाए. यूक्रेन के विमान हादसे में 176 लोग मारे गए थे. इनमें अधिकतर ईरान और कनाडा के नागरिक थे. बता दें कि खामनेई 1989 से ही देश के शीर्ष नेता हैं. सभी बड़े फैसलों में अंतिम निर्णय उन्हीं का होता है. खामनेई सुलेमानी के अंतिम संस्कार में सार्वजनिक तौर पर रोए थे और अमेरिका के खिलाफ कड़े प्रतिशोध की कसम ली थी.

ये भी पढ़ें:

पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा- सावरकर को भारत रत्न दिया तो हम विरोध करेंगेराज्‍यपाल ने कहा- केरल सरकार को राज्‍य का पैसा याचिका पर खर्च करने का हक नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 6:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर