मूसलाधार बारिश से भारत-नेपाल-भूटान-बांग्लादेश के 40 लाख बच्चे प्रभावित: यूनिसेफ

मूसलाधार बारिश से भारत-नेपाल-भूटान-बांग्लादेश के 40 लाख बच्चे प्रभावित: यूनिसेफ
मूसलाधार बारिश, 40 लाख बच्चे बाढ़ से प्रभावित, यूनिसेफ, बच्चे हुए बेघर, नेपाल, भारत, भूटान, बांगलादेश-Torrential rains, 40 lakh children affected by flood, UNICEF, children homeless, Nepal, India, Bhutan, Bangladesh

लगातार हो रही मूसलाधार बारिश (Torrential Monsson Rain) के चलते नेपाल, भारत, बांग्लादेश और भूटान ने लाखों बच्चों और परिवारों का जीवन (Four Million Children Effected) प्रभावित हुआ है.

  • Share this:
काठमांडू. लगातार हो रही मूसलाधार बारिश (Torrential Monsson Rain) के चलते नेपाल, भारत, बांग्लादेश और भूटान ने लाखों बच्चों और परिवारों का जीवन (Four Million Children Effected) प्रभावित हुआ है. यूनिसेफ (Unicef) के अनुसार करीब 40 लाख बच्चों का जीवन प्रभावित हुआ है और इनकी जिंदगी अनिवार्य रूप से बचाने की दिशा में पहल करना चाहिए. इन बच्चों के अलावा लाखों बच्चों का जीवन जोखिम में है.

कोविड-19 के संक्रमण में इन वजहों से हुआ इजाफा
यूनिसेफ के दक्षिण एशिया की क्षेत्रीय निदेशक जीन गॉग ने कहा कि इन इलाकों में लोग मौसमी बर्बादी से परिचित हैं लेकिन इसके बावजूद भारी मानसूनी बरसात, प्रलंयकारी बाढ़ और भूस्खलन ने बच्चों और उनके परिवारों की जिंदगी में तूफान ला दिया है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी और प्रदूषण और सुरक्षा के उपायों ने इस मुश्किल को और बढ़ा दिया है. इस समय बाढ़ से प्रभावित इलाकों में कोविड-19 के संक्रमण में तेजी आ रही है.

बच्चों को इस आपदा से उबारने के लिए करने पड़ेंगे ये इंतजाम
यूनिसेफ ने नेपाल में एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहा कि इन चारों देशों में 700 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जनों लोग लापता हो गए हैं. गॉग ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कहर को मौसम में बदलाव और अप्रत्याशित मौसमी परिघटनाओं ने और ज्यादा बढ़ा दिया है जिसके चलते दक्षिण एशिया में बच्चों का जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. उन्होंने कहा कि बच्चों को इससे उबारने के लिए तत्काल मदद, अधिक संसाधनों और सकारात्मक कार्यक्रम के लिए पहल करने की जरूरत पड़ेगी.



ये भी पढ़ें: सलाद खाने से 600 लोग हुए बीमार, ये मरीज एक महीने तक रह सकते हैं परेशान

सफारी पार्क पहुंचने वालों की कारों को बैबून ​हथियारों से पहुंचा रहे नुकसान

नेपाल में 9 जुलाई से शुरू हुई बारिश के चलते बाढ़ और भूस्खलन की समस्या पैदा हो गई है. नेपाल के 20 से ज्यादा जिले बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं. यहां 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि चार दर्जन से ज्यादा लोग लापता हो चुके हैं. करीब 87 लोग घायल हुए हैं. बाढ़ के चलते 10 हजार से अधिक लोग विस्थापित हो गए हैं. इनमें 7,500 बच्चे शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading