लाइव टीवी

ब्राजील के अमेजन जंगलों में पेड़ों के सफाए ने तोड़ा एक दशक का रिकॉर्ड

भाषा
Updated: November 29, 2019, 1:35 PM IST
ब्राजील के अमेजन जंगलों में पेड़ों के सफाए ने तोड़ा एक दशक का रिकॉर्ड
ब्राजील के अमेजन जंगलों में पेड़ों का सफाया

अमेजन वर्षावन (Amazon Rain Forest) में जुलाई 2019 तक 10,000 वर्ग किलोमीटर से अधिक क्षेत्र वन रहित हो गया है. पिछले एक दशक से ज्यादा वक्त में इतनी बड़ी संख्या में पेड़ों का सफाया कभी नहीं हुआ.

  • Share this:
ब्रासीलिया. ब्राजील (Brazil) ने अमेजन (Amazon) के जंगलों के बारे में गुरुवार को संशोधित आंकड़े जारी किए, जिनमें सामने आया कि अमेजन वर्षावन में जुलाई 2019 तक 10,000 वर्ग किलोमीटर से अधिक क्षेत्र वन रहित हो गया है. पिछले एक दशक से ज्यादा वक्त में इतनी बड़ी संख्या में पेड़ों का सफाया कभी नहीं हुआ.

नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस रिसर्च (INPE) ने पिछले हफ्ते कहा था कि उपग्रह से एकत्रित किए गए आंकड़ों में सामने आया है कि 12 महीने में 9,762 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में पेड़ खत्म हो गए. पहले की तुलना में यह 29.5 प्रतिशत ज्यादा है.

आईएनपीई (National Institute for Space Research) की तरफ से इस हफ्ते संशोधित आंकड़े जारी करने पर मालूम चला कि यह इजाफा जितना सोचा गया था, उससे कहीं अधिक था. विश्व के सबसे बड़े वर्षावन में पेड़ों का सफाया 43 फीसदी तक बढ़ गया था. जुलाई में खत्म होने वाली 12 माह की अवधि में 10,100 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में पेड़ साफ हो गए थे. इसकी तुलना में अगस्त 2017 से जुलाई 2018 के बीच 7,033 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में पेड़ों का सफाया हुआ.

पेड़ों के सफाए की यह घटना 2008 के बाद सबसे बड़ी है, जब 12 माह की अवधि में अमेजन के जंगलों में 12,287 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में पेड़ खत्म हो गए. इन आंकड़ों की घोषणा उस घटना के बाद हुई है, जब इस साल की शुरुआत में वर्षावन में लगी आग ने जंगल के बड़े हिस्से को बर्बाद कर दिया था. 2013 के बाद से आग लगने का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है. पृथ्वी को करीब 20 फीसदी आक्सीजन अमेजन के जंगलों से मिलती है.

ये भी पढ़ें : अमेरिका के मशहूर पर्वतारोही ब्रैड गॉबराइट की मेक्सिको में चट्टान से गिरकर मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 1:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...