ट्रम्प ने WHO को बताया ड्रैगन की कठपुतली, कहा- corona के लिए चीन ही जिम्मेदार

ट्रम्प ने WHO को बताया ड्रैगन की कठपुतली, कहा- corona के लिए चीन ही जिम्मेदार
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (फाइल फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे प्लेग को रोक सकते थे. लेकिन उन्होंने इसे नहीं रोका.

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति कोरोना वायरस को लेकर चीन से तो नाराज हैं ही और ना जाने कितनी ही बार उन्होंने इसके लिए चीन पर आरोप भी लगाए हैं. लेकिन अब उनका गुस्सा वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) पर भी निकला है. ट्रम्प ने WHO को चीन की कठपुतली करार दिया है. उन्होंने कहा कि WHO वास्तव में चीन की कठपुतली था. कोई गलती न करें हम चीन को पूरी तरह से वायरस को छुपाने के लिए जिम्मेदार मानते हैं. उन्होंने कहा कि मैंने काफी समय से चीनी राष्ट्रपति से बात नहीं की है और मेरी उनसे बात करने की कोई योजना भी नहीं है. हमने अविश्वसनीय चीनी प्रौद्योगिकी और दूरसंचार प्रदाताओं का सामना किया. हमने कई देशों को हुआवेई का उपयोग न करने के लिए आश्वस्त किया क्योंकि यह एक बड़ा सुरक्षा जोखिम है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चीन का गुस्सा चीन को लेकर दिन- प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. अमेरिका और चीन के बीच व्यापार समझौते के दूसरे चरण की उम्मीदों को उस समय झटका लगा जब प्रेसिडेंट ट्रंप ने साफ-साफ कहा कि अमेरिका और चीन के रिश्ते गंभीर रूप से खराब हो चुके हैं. उन्होंने एकबार फिर कोरोना वायरस को लेकर चीन को घेरा है.


'द वॉल स्ट्रीट जनरल' के मुताबिक, एयरफोर्स वन में प्रेसिडेंट डोनाल्‍ड ट्रंप ने साफ-साफ कहा कि अभी हम अमेरिका और चीन के बीच व्यापार समझौते के बार में नहीं सोच रहे हैं. उन्होंने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा, 'वे प्लेग को रोक सकते थे, वे इसे रोक सकते थे, लेकिन उन्होंने इसे नहीं रोका.'



ये भी पढ़ें: चीन को नहीं भाई अमेरिका-ताइवान की दोस्ती, लॉकहीड मार्टिन पर लगाया बैन

अमेरिका-चीन के बीच व्यापारिक समझौता
जब अमेरिका और चीन ने जनवरी में अपने व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किए थे तो वह पहला चरण था. इसके बाद दूसरे और तीसरे चरण में और भी महंगे डील होने की संभावना है. विश्व को दी आर्थिक शक्तियों के बीच अभी दूसरे और तीसरे चरण की बातचीत के लिए अभी तक कोई समय निश्चित नहीं की गई है. कोरोना संक्रमण के कारण उपजे आर्थिक संकट के कारण भी फेज वन के पहले चरण में हुए समझौतों के मुताबिक चीन के द्वारा अमेरिकी सामान के खरीदने के लक्ष्यों को पार करना मुश्किल दिख रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading