ब्रिटेन में आतंकी हमले में मारा गया लोकप्रिय स्कूल शिक्षक, श्रद्धांजलि देने उमड़े हजारों छात्र

ब्रिटेन में आतंकी हमले में मारा गया लोकप्रिय स्कूल शिक्षक, श्रद्धांजलि देने उमड़े हजारों छात्र
प्रतीकात्मक तस्वीर

इंग्लैंड के रीडिंग शहर (Reading City) में शनिवार को एक पार्क में हुए एक आतंकी हमले में तीन लोग मारे गए. इनमें से एक अमरीकी नागरिक भी शामिल था. इस हमले में एक लोकप्रिय शिक्षक की भी मौत हो गई.

  • Share this:
लंदन. इंग्लैंड के रीडिंग शहर (Reading City) में शनिवार को एक पार्क में हुए एक आतंकी हमले (Terrorist Attack) में तीन लोग मारे गए. इनमें से एक अमरीकी नागरिक (American Citizen) भी शामिल था. 39 वर्षीय रिची बेनेट रीडिंग में एक फार्मास्युटिकल कंपनी का कर्मचारी था. वहीं दूसरा मृतक जेम्स फर्लोग था जो वोकिंघम का नागरिक था. जेम्स बहुत लोकप्रिय स्कूल शिक्षक (Popular School Teacher) था. यह बात सोमवार को तब सामने आई जब हजारों लोगों ने लंदन के पास के कस्बे में 36 वर्षीय जेम्स के लिए एक मिनट का मौन रखा गया.

जेम्स के स्कूल के वर्तमान छात्रों के साथ उनके पूर्व छात्रों ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी. उनके माता पिता ने कहा कि जेम्स एक बुद्धिमान, ईमानदार और मजेदार इंसान थे. हम उसे कभी नहीं भूलेंगे और वह हमेशा के लिए हमारे दिलों में बस गए हैं.

अमेरिकी राजदूत ने संवेदना प्रकट की



यूके में अमेरिकी राजदूत वूडी जॉनसन ने कहा कि मैं 20 जून को हुए हमले में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. हमारे इस दुख में एक अमेरिकी नागरिक भी शामिल है. हम इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं और ब्रिटिश कानून प्रवर्तन को हम सहायता पेश करते हैं.
ये भी पढ़ें: यहां ज्वालामुखी विस्फोट से 6 KM. ऊंचाई तक निकलने लगी राख, देखें VIDEO

ब्रिटेन की अश्वेत आबादी ने माना-पुलिस उनसे सम्मान से नहीं आती पेश

आतंकवाद कानूनों के तहत गिरफ्तार किए गए लीबियाई मूल का 25 वर्षीय खैरी सादुल्लाह 2019 के मध्य में ब्रिटिश खुफिया विभाग के रडार पर था लेकिन तत्काल खतरे की पहचान नहीं होने के कारण इस मामले को तब बंद कर दिया गया था. कथित तौर पर सादुल्लाह को ब्रिटेन में शरण दी गई थी. सादुल्लाह की जांच एक ऐसे व्यक्ति के रूप में की गई थी. उसके बारे में यह अनुमान किया गया था कि वह चरमपंथी कारणों से विदेश यात्रा कर सकता है लेकिन उससे कोई तत्कालीन खतरा नहीं महसूस किया गया था.

हत्यारे की मानसिक हालत ठीक नहीं थी

कुछ रिपोर्टों में यह भी कहा गया कि उसे कुछ मानसिक स्वास्थ्य से जुडी समस्याएं हो सकती हैं. वर्ष 2019 में ही यूके में आतकंवाद का खतरा सामान्य से काफी बढ़ गया था और इसी कारण किसी आतंकवादी हमले की संभावना जताई जा रही थी. सुरक्षा मंत्री जेम्स ब्रोन्सशायर ने कहा कि मैं सिर्फ यही कहूंगा कि पुलिस और सुरक्षा सेवाएं स्पष्ट रूप से हजारों सूचनाओं पर ध्यान दे रही हैं और काम कर रही हैं. इसके साथ ही संसाधन की प्राथमिकता के संदर्भ में भी उनके सामने कठिन चुनौतियां हैं. जेम्स ब्रोन्सशायर ने कहा कि मैं भी आश्वस्त कर सकता हूं कि अगर कुछ सबक सीखने की जरूरत हैं और कुछ नीतियां बदले जाने की जरूरत है और चीजों को अलग तरीके से करने की जरूरत है तो हम वह अवश्य करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading