क्या ट्रंप ने दोबारा राष्ट्रपति बनने के लिए किया ईरानी जनरल पर हमला? पुराने ट्वीट कर रहे इस ओर इशारा

क्या ट्रंप ने दोबारा राष्ट्रपति बनने के लिए किया ईरानी जनरल पर हमला? पुराने ट्वीट कर रहे इस ओर इशारा
क्या चुनाव जीतने के लिए ट्रंप ने बगदाद पर किया हमला

अमेरिका (America) और ईरान (Iran) के बीच छिड़ी जंग ने दुनियाभर में तनाव पैदा कर दिया है. अमेरिका ने जिस तरह से इस हमले को अंजाम दिया है, उसके बाद से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की ओर से की गई इस कार्रवाई पर ही सवाल उठने लगे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2020, 9:20 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद (Baghdad) में जिस तरह से अमेरिकी हवाई हमले (American Strike) किए जा रहे हैं, उससे दुनिया को तीसरे विश्व युद्ध (Third World War) की आशंका सताने लगी है. अमेरिका और ईरान (Iran) के बीच उभरे इस नए तनाव ने दुनियाभर को चिंता में डाल दिया है. अमेरिका ने जिस तरह से इस हमले को अंजाम दिया, उसके बाद से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से की गई इस कार्रवाई पर ही सवाल उठने लगे हैं. कुछ राजनीतिक जानकार इसे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से दोबारा चुनाव जीतने के लिए उठाया गया कदम मान रहे हैं.

जानकारों के मुताबिक अमेरिका ने बगदाद पर हवाई हमला उस वक्त किया है, जब अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं. अमेरिका में इस साल चुनाव होने वाले हैं. चुनाव से पहले ही डोनाल्ड ट्रंप ने 29 नवंबर 2011 को ट्वीट कर कहा था कि अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव जीतने का फॉर्मूला ईरान के साथ जंग शुरू करना होगा.
यही नहीं अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के पहले से ही ट्रंप की नजर ईरान पर टिकी हुई है. साल 2011-12 में ही ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था कि तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा एक बार फिर चुनाव जीतने के लिए ईरान के साथ युद्ध शुरू कर सकते हैं.

अमेरिका ने जिस तरह से राष्ट्रपति चुनाव से पहले ईरान के जनरल सुलेमानी को निशाना बनाया है वह डोनाल्ड ट्रंप की सोची समझी रणनीति लगती है. जानकारों का कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने महाभियोग से बचने और दोबारा से चुनाव जीतने के लिए बगदाद पर हमला कराया है.



इसे भी पढ़ें :- सुलेमानी को मारने के बाद अमेरिका का एक और हमला, इराकी सेना के कमांडर को बनाया निशाना, 5 की मौत

विपक्षी दलों ने जताई घटना से तनाव बढ़ने की आशंका
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी ने इस कार्रवाई की प्रशंसा की है. वहीं विपक्षी दलों ने इस बात की आशंका जतायी है कि इससे क्षेत्रीय तनाव पैदा हो सकता है. वहीं अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आग में घी डालने का काम किया है.'

इसे भी पढ़ें :- कासिम सुलेमानी हजारों अमेरिकियों का हत्‍यारा, उसे कई साल पहले ही मार देना चाहिए था: ट्रंप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज