ट्रंप ने बताई अपने NSA को हटाने की वजह, कहा- बोल्टन ने कुछ गंभीर गलतियां कीं

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 11:13 AM IST
ट्रंप ने बताई अपने NSA को हटाने की वजह, कहा- बोल्टन ने कुछ गंभीर गलतियां कीं
बोल्टन को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद से हटाने पर बोले ट्रंप

अमेरिका (America) के राष्ट्रपति (President) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने जॉन बोल्टन को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद से हटाने पर बोले उन्होंने कुछ गंभीर गलतियां की थीं

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 11:13 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (America) के राष्ट्रपति (President) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने जॉन बोल्टन (John R. Bolton) को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (National Security Advisor) के पद से हटाने के अपने निर्णय का बचाव करते हुए कहा कि बोल्टन ने कुछ गंभीर गलतियां की थीं और उनके काम प्रशासन के अनुरूप नहीं थे. ट्रंप ने कहा, 'जब उन्होंने (बोल्टन) किम जोंग उन के लिए लीबियाई मॉडल की बात की तो वह अच्छा बयान नहीं था. आप जरा देखिए गद्दाफी के साथ क्या हुआ, तो उस लिहाज़ से यह अच्छा बयान नहीं था और इसने हमें निराश किया. उन्होंने कहा कि अगले हफ्ते नए एनएसए की घोषणा की जाएगी.'

कौन हैं जॉन बोल्टन
बोल्टन को 9 अप्रैल 2018 को यूएस का 27वां राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाया गया था. वह जॉर्ज डब्ल्यू बुश के कार्यकाल में अगस्त 2005 से दिसंबर 2006 तक संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका के राजदूत रह चुके हैं. बोल्टन अमेरिकी अटॉर्नी, राजनीतिक टिप्पणीकार, रिपब्लिकन सलाहकार और पूर्व राजनयिक हैं. बोल्टन ने येल यूनिवर्सिटी से बीए की डिग्री ली. 1971 से लेकर 1974 तक वह येल लॉ स्कूल में रहे. वह न्यू अमेरिकन सेंचुरी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर भी रहे, जो इराक के साथ युद्ध करने के हक में था.

क्यों हटाया गया बोल्टन को

बोल्टन को कुछ गंभीर गलतियां के कारण हटाया गया, ट्रंप ने कहा जब उन्होंने (बोल्टन) किम जोंग उन के लिए लीबियाई मॉडल की बात की तो वह अच्छा बयान नहीं था. इसने हमें निराश किया, वेनेजुवेला को लेकर बोल्टन के रुख से भी सहमत नहीं थे. मुझे लगा कि वह लाइन से बाहर जा रहे हैं और मैं सोचता हूं कि मैं सही साबित हुआ. लेकिन हम वेनेजुवेला पर बेहद करीब से नजर रख रहे हैं. राष्ट्रपति के अनुसार बोल्टन प्रशासन के अनुरूप काम नहीं करते थे.

कैसा था ट्रंप और बोल्टन का रिश्ता
बोल्टन को अचानक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद से हटाने के एक दिन बाद ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा कि जॉन के साथ मैंने काफी काम किया. जॉन को एक सख्त व्यक्ति के तौर पर जाना जाता है. वह इतने सख्त हैं कि हमें इराक भेज देते. लेकिन वह वास्तव में ऐसे शख्स हैं जिनके साथ मेरे बहुत अच्छे संबंध थे. लेकिन उनके विचार प्रशासन के अन्य लोगों से मेल नहीं खाते थे.
Loading...

ये भी पढ़ें : ट्रंप बोले- अमेरिका की तालिबान के साथ शांति वार्ता खत्म

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 10:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...