ट्रंप की नस्लवादी टिप्पणी से गरमाया सियासी माहौल, रैलियों में गूंजे 'उन्हें वापस भेजो' के नारे

विदेशी मीडिया में जहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नस्लवादी ट्वीट की चर्चा हो रही है तो वहीं पाकिस्तान के मीडिया में भारतीय कुलभूषण जाधव पर आईसीजे का फैसला सुर्खियां बना है

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 2:00 PM IST
ट्रंप की नस्लवादी टिप्पणी से गरमाया सियासी माहौल, रैलियों में गूंजे 'उन्हें वापस भेजो' के नारे
विदेशी मीडिया में जहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नस्लवादी ट्वीट की चर्चा हो रही है तो वहीं पाकिस्तान के मीडिया में भारतीय कुलभूषण जाधव पर आईसीजे का फैसला सुर्खियां बना है
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 2:00 PM IST
ब्रिटेन के अखबार और वेबसाइट द गार्डियन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रैली में लगे नस्लवादी नारों को हेडलाइंस बनाया. डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान चार डेमोक्रेट महिला सांसदों पर नस्लीय टिप्पणी करते हुए कहा था कि वो जिस देश से आती हैं उन्हें वहीं लौट जाना चाहिए. ट्रंप के इस बयान का असर उनकी रैली में दिखाई पड़ा जहां लोगों की भीड़ ने चारों अमेरिकी सांसद महिलाओं को उनके देश वापस भेजने के नारे लगाए. ट्रंप ने रविवार को ट्वीट कर चार महिला सांसदों को प्रोग्रेसिव डेमोक्रेट कांग्रेस वुमन्स करार दिया था. इन महिलाओं में मिनेसोटा की इल्हान उमर, मैसेच्युसेट्स की अयाना प्रेसले, मिशिगन की रशीदा तलैब और न्यूयॉर्क की अलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कॉर्तेज शामिल हैं. द गार्डियन लिखता है कि इल्हान उमर 30 साल पहले 8 साल की उम्र में शरणार्थी के रूप में सोमालिया से अमेरिका आई थीं जो कि अश्वेत हैं. वहीं रशीदा तलैब कांग्रेस पहुंचने वाली फिलिस्तीनी मूल की महिला हैं जो कि डेट्रॉयट में पैदा हुई थीं जबकि अनाया प्रेस्ले मैसाच्युसेट्स से कांग्रेस पहुंचने वालीं पहली अफ्रीकी-अमेरिकन हैं.

चीन में गमले में दिखा ‘स्पाइडर-मैन’? सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल 
चीन की प्रतिष्ठित वेबसाइट चाइना डेली ने सोशल मीडिया पर तूफान मचाने वाले वीडियो को पोस्ट किया है. इस वीडियो में इंसानी चेहरे जैसी मकड़ी दिखाई दे रही है. हुआन प्रांत के युआनजिआंग में एक महिला को घर के गमले में ये इंसानी चेहरे वाली छोटी सी मकड़ी दिखाई दी जिसका उसने तुरंत वीडियो बना लिया. महिला का दावा है कि मकड़ी पर इंसानों की तरह के बाल भी दिखाई दे रहे है. गमले में घूमती इस मकड़ी के वीडियो से सोशल मीडिया में हड़कंप मच गया है.

ICJ में मिली हार को पचा नहीं पा रहा पाकिस्तानी मीडिया

ICJ यानी इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस का भारतीय कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक और काउन्सलर एक्सेस देने के फैसले को पाकिस्तान के मीडिया ने प्रमुखता से सुर्खियां बनाया है. पाकिस्तान का अखबार ‘डॉन’ लिखता है कि कुलभूषण जाधव की रिहाई को लेकर भारत की अपील को आईसीजे ने खारिज कर दिया और केवल कॉन्सुलर एक्सेस की अनुमति दी. डॉन लिखता है कि अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट ने भारत की सभी याचिकाओं को खारिज़ कर दिया जिसमें जाधव को दोषी ठहराने वाले सैन्य अदालत के फैसले को रद्द करना, पाकिस्तान की सज़ा को रोकना, जाधव की रिहाई को सुरक्षित करना और भारत लौटाने का आदेश शामिल था. दरअसल, डॉन ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के फैसले को 15-1 से हार के बावजूद पाकिस्तान के पक्ष में दिखाने की कोशिश की है. डॉन लिखता है कि आईसीजे ने फैसले का ऐलान करते हुए कहा कि जाधव को तुरंत ही कॉन्सुलर एक्सेस की इजाज़त दी जाए और पाकिस्तान को जाधव के दोषी ठहराने और सज़ा की प्रभावी समीक्षा और पुनर्विचार सुनिश्चित करने को कहा.

पाकिस्तान के अखबार ‘जंग’ के मुताबिक पंजाब प्रांत की सरकार को लाहौर में मुर्दों को दफन करने के लिए नई कब्रों पर टैक्स वसूलने का प्रस्ताव दिया गया है. प्रस्ताव के मुताबिक नई कब्रों पर एक हजार से पंद्रह सौ पाकिस्तानी रुपये तक वसूलने का प्रस्ताव दिया गया है.

 
First published: July 18, 2019, 12:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...