लाइव टीवी

उत्तरी सीरिया में अगले 5 दिनों तक सैन्य कार्रवाई नहीं करेगा तुर्की, ट्रंप बोले- लाखों जानें बच जाएंगी

News18Hindi
Updated: October 18, 2019, 8:58 AM IST
उत्तरी सीरिया में अगले 5 दिनों तक सैन्य कार्रवाई नहीं करेगा तुर्की, ट्रंप बोले- लाखों जानें बच जाएंगी
अमरीका सीमा के उस इलाके से कुर्द बलों को हटा रहा है जहां तुर्की 'सेफ़ ज़ोन' बनाना चाहता है.

अमरीका सीमा के उस इलाके से कुर्द बलों को हटा रहा है जहां तुर्की 'सेफ़ ज़ोन' बनाना चाहता है. उत्तर पूर्व सीरिया में तुर्की के एकतरफा सैन्य अभियान के खिलाफ भारत ने भी चिंता जतायी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 8:58 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. तुर्की (Turkey) उत्तरी सीरिया (Northern Syria) में युद्ध विराम के लिए राजी हो गया है. इस बात का ऐलान गुरुवार को अमरीका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस (Mike Pence) ने किया. पेंस और तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप एर्दोगन के बीच मुलाक़ात के बाद ये फैसला लिया गया. तुर्की सीरिया में अब 5 दिनों तक कोई भी सैन्य ऑपरेशन नहीं करेगा.

पेंस की घोषणा के बाद अमरीकी राष्ट्रपति ने एर्दोगन का शुक्रिया अदा किया. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'लाखों जानें बच जाएंगी.'



इससे पहले अमेरिका ने तुर्की को धमकी देते हुए कहा था कि अगर वो अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है, तो अमेरिका उसकी अर्थव्यवस्था (Economy) को पूरी तरह से बर्बाद कर देगा. ट्रंप ने तुर्की के राष्ट्रपति को पत्र लिखकर सीरिया (Syria) में हमले रोकने की चेतावनी दी थी. ट्रंप ने लिखा था कि तुर्की के राष्ट्रपति इतिहास में शैतान के तौर पर अपना नाम दर्ज कराने का जोखिम मोल ले रहे हैं.
Loading...

सीरिया से अमेरिकी सेना के हटने के साथ ही तुर्की ने कुर्दिश बहुल इलाके पर हमला कर दिया था.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने धमकी देते हुए तुर्की के राष्ट्रपति को हिदायत दी थी कि अगर वो इसी तरह कुर्दिश पर हमले जारी रखता है तो वो अंकारा की अर्थव्यवस्था को तबाह कर देंगे. ट्रंप ने पत्र में कहा कि आप (एर्दोगन) हजारों लोगों की हत्या का कसूरवार नहीं बनना चाहेंगे. मैं भी ऐसा कोई काम नहीं करना चाहता, जिससे लोग मुझे तुर्की की अर्थव्यस्था को बर्बाद करने का जिम्मेदार मानें.

तुर्की सीरिया में अब 5 दिनों तक कोई भी सैन्य ऑपरेशन नहीं करेगा


अमरीका सीमा के उस इलाके से कुर्द बलों को हटा रहा है जहां तुर्की 'सेफ़ ज़ोन' बनाना चाहता है. उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने तुर्की पर प्रतिबंध लगा दिया है और बड़े यूरोपीय देशों ने नाटो के सदस्य देशों को हथियारों की बिक्री पर रोक लगा दी है.

उत्तर पूर्व सीरिया में तुर्की के एकतरफा सैन्य अभियान के खिलाफ भारत ने भी चिंता जतायी है और कहा है कि यह कार्रवाई क्षेत्रीय स्थिरता एवं आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष को कमजोर करेगा.

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘‘सीरिया में एकतरफा सैन्य कार्रवाई से हम गंभीर रूप से चिंतित हैं.’’ नई दिल्ली में 10 अक्टूबर को बयान जारी कर विदेश मंत्रालय ने कहा था कि तुर्की की यह कार्रवाई क्षेत्र की स्थिरता और आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष को कमजोर करेगा.

ये भी पढ़ें:

अमित शाह बोले- 2024 से पहले लागू करेंगे NRC, सभी मुसलमान घुसपैठिए नहीं

EXCLUSIVE: फडणवीस बोले- केंद्र सरकार से वीर सावरकर को भारत रत्न दिलवाकर रहेंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 5:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...