तुर्की को मिला ओबामा का साथ, कहा- दोनों जीवित पायलट की खोज जारी

तुर्की को मिला ओबामा का साथ, कहा- दोनों जीवित पायलट की खोज जारी
WASHINGTON, DC- NOVEMBER 24: President Barack Obama speaks during the 2015 Presidential Medal Of Freedom Ceremony at the White House on November 24, 2015 in Washington, DC. (Photo by Kris Connor/WireImage)

तुर्की द्वारा सीरिया की सीमा में मार गिराए गए रूसी विमान से हादसे से पहले ही बाहर निकल गए दोनों पायलटों के जीवित होने की संभावना है और तुर्की अधिकारी उनका पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।

  • Share this:
अंकारा। तुर्की द्वारा सीरिया की सीमा में मार गिराए गए रूसी विमान से हादसे से पहले ही बाहर निकल गए दोनों पायलटों के जीवित होने की संभावना है और तुर्की अधिकारी उनका पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। एक सरकारी अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है। अधिकारी ने बताया है कि तुर्की के पास सूचना है कि दोनों पायलट जीवित हैं और फिलहाल तुर्की उन्हें खोज रहा है।

पहले खबर आ रही थी कि विमान से कूदने के बाद एक पायलट की मौत हो गई थी। इससे पहले उत्तर-पश्चिमी सीरिया में आतंकवादियों ने ऑनलाइन जारी एक वीडियो में एक मृत पायलट को दिखाया था, जिसे कथित तौर पर रूसी युद्धक विमान का पायलट बताया गया है। वीडियो में आतंकवादी 'अल्लाह-ओ-अकबर' चिल्ला रहे हैं। वे सीरिया के उत्तर-पश्चिमी प्रांत लताकिया में लड़ाई लड़ रहे हैं, जहां रूसी विमान गिरा।

वीडियो में पीठ के बल पड़े गंभीर रूप से घायल कथित पायलट की तरफ कैमरा कर एक आतंकवादी को यह कहते हुए सुना जा रहा है कि रूसी पायलट को 10वीं ब्रिगेड ने पकड़ा है। ट्विटर पर जारी 20 सेकंड के वीडियो के मुताबिक, आतंकवादियों ने कहा कि पायलट की मौत हो चुकी है।



इससे पहले मंगलवार को तुर्की के दो एफ-16 विमानों ने रूस के एसयू-24 विमान को मार गिराया था। तुर्की की सेना ने यह कार्रवाई विमान के पायलट द्वारा तुर्की की हवाई सीमा का पांच मिनट में 10 बार उल्लंघन किए जाने के बाद की। इसके पहले पायलट को बार-बार आगाह किया गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि निशाना बनाए गए विमान के पायलट ने पैराशूट से छलांग लगाई थी। रूस के रक्षा मंत्रालय ने एसयू-24 विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की पुष्टि की।
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि तुर्की से लगी सीरिया की सीमा से एक किलोमीटर दूर जिस विमान पर रूसी विमान ने हमला किया और उसे चार किलोमीटर दूर मार गिराया, उसने तुर्की की वायुसीमा का उल्लंघन नहीं किया था। पुतिन ने कहा कि जिस समय विमान पर हमला हुआ, उस समय वह 6000 मीटर की ऊंचाई पर था और तुर्की की सीमा से एक किलोमीटर दूर था।

दूसरी तरफ अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि नाटो सदस्य तुर्की को अपनी हवाई सीमा की रक्षा करने का पूरा अधिकार है। गौरतलब है कि तुर्की द्वारा आज सीरिया की सीमा में रूसी लड़ाकू विमान मार गिराए जाने के बाद ओबामा ने यह बयान दिया है।

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलोंद की मौजूदगी में व्हाइट हाउस में ओबामा ने कहा कि अन्य सभी देशों की भांति तुर्की को भी अपनी सीमा और हवाई सीमा की रक्षा करने का अधिकार है। रूसी लड़ाकू विमान गिराए जाने के बाद किसी प्रकार की आक्रामकता के खिलाफ ओलोंद और ओबामा दोनों ने चेतावनी दी है। चिंता जताई जा रही है कि हवाई संघर्ष से अशांत क्षेत्र में तनाव भीषण तरीके से बढ़ जाएगा।

(एजेंसियों के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज