लाइव टीवी

तुर्की के राष्‍ट्रपति एर्दोआन ने सीरिया में विद्रोह पर कहा- 'हम बिना चेतावनी किसी भी रात वहां धमक सकते हैं'

News18Hindi
Updated: October 7, 2019, 5:07 PM IST
तुर्की के राष्‍ट्रपति एर्दोआन ने सीरिया में विद्रोह पर कहा- 'हम बिना चेतावनी किसी भी रात वहां धमक सकते हैं'
तुर्की के राष्‍ट्रपति आरटी एर्दोआन ने बताया कि उत्‍तरी सीरिया में फ्रांस (France), जर्मनी (Germany) समेत कई देशों के आईएस आतंकी पकड़े गए हैं. ये सभी देश कह रहे है कि वे इन आतंकियों को वापस नहीं बुलाना चाहते.

आरटी एर्दोआन (Recep Tayyip Erdogan) ने रविवार को कहा, 'तुर्की (Turkey) की सेना अमेरिका (US) की इस घोषणा का इंतजार कर रही थी कि उसकी सेना सीरिया (Syria) में कुर्द विद्रोहियों (Kurdish Militants) के अभियान के बीच में नहीं आएगी. व्‍हाइट हाउस (White House) ने रविवार को कहा, तुर्की लंबे समय से तैयार की गई योजना के साथ जल्द ही उत्तरी सीरिया में आगे बढ़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 5:07 PM IST
  • Share this:
इस्‍तांबुल. तुर्की (Turkey) के राष्‍ट्रपति आरटी एर्दोआन (Recep Tayyip Erdogan) ने बताया कि उनकी सेना सीरिया (Syria) में कुर्द विद्रोहियों (Kurdish Militants) के खिलाफ किसी भी समय अभियान छेड़ने को पूरी तरह तैयार है. हमें सिर्फ अमेरिका (US) की इस घोषणा का इंतजार था कि उसकी सेना बीच में नहीं आएगी. एर्दोआन ने कहा, 'हमारे यहां एक कहावत है कि हम बिना चेतावनी दिए किसी भी रात धमक सकते हैं. ऐसे में ये सवाल ही गलत है कि हम कुर्द आतंकी संगठनों को और कितना बर्दाश्‍त कर सकते हैं.' बता दें कि व्‍हाइट हाउस ने रविवार को कहा कि तुर्की लंबे समय से तैयार की गई योजना के साथ जल्द ही उत्तरी सीरिया में आगे बढ़ेगा.

व्‍हाइट हाउस ने कहा- उत्‍तरी सीरिया से अलग रहेंगी अमेरिकी सेनाएं
व्‍हाइट हाउस (White House) की ओर से जारी बयान में कहा गया कि अमेरिकी सशस्त्र बल (US Armed Forces) तुर्की सेना के इस अभियान में न तो शामिल होंगे और न ही किसी तरह की मदद करेंगे. इसके अलावा आतंकी संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट (ISIS) के क्षेत्रीय खलीफा को हराने वाली अमेरिका की सेनाएं अब इस क्षेत्र से अलग रहेंगी. वहीं, उत्‍तरी सीरिया (North Syria) में पिछले दो साल के दौरान पकड़े गए सभी आईएस आतंकियों की जिम्‍मेदारी भी तुर्की पर ही होगी. एर्दोआन ने कहा कि हम पकड़े गए विदेशी आईएस आतंकियों के बारे में यूरोपीय सरकारों के साथ मिलकर काम करेंगे.

कोई देश आतंकी बने अपने नागरिकों को वापस नहीं बुलाना चाहता

एर्दोआन ने बताया कि उत्‍तरी सीरिया में फ्रांस (France), जर्मनी (Germany) समेत कई देशों के आईएस आतंकी पकड़े गए हैं. ये सभी देश कह रहे है कि वे इन आतंकियों को वापस नहीं बुलाना चाहते. एर्दोआन ने कहा कि हम विदेशी आईएस आतंकियों पर फैसला नहीं ले सकते. ऐसे में हम क्‍या कर सकते हैं? इसी पर हम मिलकर काम करेंगे. मैंने अपने अधिकारियों को इस मामले से निपटने के लिए काम करने का निर्देश दे दिया है. कुर्दों के नेतृत्‍व वाले सीरियाई डेमोक्रटिक फोर्सेस (SDF) का कहना है कि तुर्की का हमला वर्षों की मेहनत के बाद आईएस को हराने में मिली सफलता को पलट सकता है. एसडीएफ ने हजारों आईएस आतंकियों और उनके परिवारों को पकड़ा हुआ है.

नवंबर में मिलेंगे एर्दोआन और ट्रंप, सुरक्षित क्षेत्र बनाने पर होगी चर्चा
बता दें कि एर्दोआन और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप उत्तरी सीरिया में सुरक्षित क्षेत्र बनाने पर चर्चा के लिए नवंबर, 2019 में वाशिंगटन में मुलाकात करेंगे. तुर्की के राष्ट्रपति कार्यालय ने रविवार को बताया कि दोनों नेताओं के बीच फोन पर बातचीत के दौरान यह सहमति बनी. तुर्की के राष्ट्रपति कार्यालय ने बताया कि एर्दोआन ने ट्रंप के साथ बातचीत में तुर्की की सीमा पर एक बफर क्षेत्र बनाने के समझौते पर निराशा जताई. साथ ही अगस्त में हुए समझौते को लागू करने में अमेरिकी सेना और सुरक्षा का प्रबंधन देख रही नौकरशाही की असफलता को लेकर निराशा व्यक्त की थी.
Loading...

ये भी पढ़ें:

घाटी में हमले से लेकर पुलिसवाले की हत्या तक,पाक ने आतंकी संगठनों को बांटा काम

गांधी परिवार की सुरक्षा में बदलाव, अब पूरी विदेश यात्रा में साथ रहेगी SPG

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 4:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...