अपना शहर चुनें

States

शिल्पकार ने घर बैठे आपदा को बनाया अवसर, शुरू किया सोने-चांदी के मास्क का बिजनेस

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

कोरोना वायरस (Corona Virus) के कारण बंद हुई दुकान को जून में साबरी ने दोबारा खोला और चांदी के मास्क का सांचा तैयार करना शुरू किए. इसके बाद काम के चलते वह सोने और चांदी दोनों के मास्क तैयार करने लगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2020, 11:39 AM IST
  • Share this:
अंकारा. दुनिया की कई बड़ी हेल्थ एजेंसी वैक्सीन (Corona Vaccine) के आने तक मास्क (Mask) को ही कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बड़ा हथियार बता रहे हैं. महामारी के दौर में 10 महीने से ज्यादा समय गुजारने के बाद मास्क हमारे जीवन का जरूरी हिस्सा भी बन गया है. इसी चीज को ध्यान में रखते हुए तुर्की के एक शिल्पकार ने सुरक्षा कहे जाने वाले मास्क को गहने का रूप दे दिया है. उन्होंने सोने और चांदी (Gold-Silver Masks) के मास्क तैयार किए हैं.

43 साल के साबरी देमीर्चि एक शिल्पकार हैं, जो करीब 32 सालों से चांदी का काम कर रहे हैं. दुनिया के और लोगों की तरह ही उन्हें भी वायरस फैलने के कारण दुकान को कुछ समय के लिए ताला लगाना पड़ा था. हालांकि, उन्होंने घर पर मिले खाली समय का भरपूर इस्तेमाल किया और एक नई खोज कर दी. साबरी ने सुनना कि चांदी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं. इसके बाद उन्होंने कहीं से पढ़ कर और जानकारी जुटाई. शिल्पकार ने फैसला किया कि अगले दो से ढाई महीनों में चांदी के मास्क तैयार करेंगे.

जून में साबरी ने अपनी दुकान दोबारा खोली और चांदी के मास्क का सांचा तैयार करना शुरू किए. इसके बाद काम के चलते वह सोने और चांदी दोनों के मास्क तैयार करने लगे. अंग्रेजी वेबसाइट डेलीसबाह के मुताबिक, बुधवार को एक समाचार एजेंसी से बातचीत में साबरी ने बताया कि उन्होंने पांच महीनों तक मास्क की डिजाइन और सांचे पर काम किया है और अब वह एंटीबैक्टीरियल चांदी के मास्क का निर्माण शुरू कर रहे हैं.



खास बात है कि चांदी के ये मास्क 999 फाइन सिल्वर से बने हैं, जिनका वजन 20 ग्राम है. वहीं, साबरी ने बताया कि मास्क के अंदर आरामदायक एहसास के लिए सिल्क भी लगाया गया है. इसके अलावा सोने के मास्क का वजन करीब 25 ग्राम है. खास बात है कि इस मास्क को पहनने के बाद सांस लेने में परेशानी नहीं होती.

डेलीसबाह के अनुसार, उन्होंने कहा 'हमारा साप्ताहिक उत्पादन 150 से 200 मास्क के बीच रहता है.' इन मास्क को हल्के कपड़े से साफ किया जा सकता है. उन्होंने बताया कि मास्क डिस्पोजेबल नहीं है, लेकिन महामारी खत्म हो जाने के बाद इन्हें बेचा जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज