US Election Result: ट्रंप ने चुनाव को ही बता दिया फ्रॉड, समाचार चैनलों ने बीच में ही रोका प्रसारण

समाचार चैनलों ने ट्रंप की प्रेस कांफ्रेंस का प्रसारण बीच में ही रोका
समाचार चैनलों ने ट्रंप की प्रेस कांफ्रेंस का प्रसारण बीच में ही रोका

US Election Result: अमेरिका के कई बड़े चैनलों ने शुक्रवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की प्रेस कांफ्रेस का प्रसारण इसलिए बीच में रोक दिया क्योंकि वे बिना साक्ष्यों के अमेरिका की पूरी चुनावी प्रक्रिया पर ही सवाल खड़े कर रहे थे. ट्रंप लगातार पोस्टल बैलेट को फ्रॉड वोटिंग कहकर प्रचारित कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 10:45 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति चुनावों (US Election Result 2020) में हार से कुछ ही कदम दूर खड़े राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अब पोस्टल बैलेट और कुछ राज्यों में हुई धांधली के आरोपों के बीच चुनावी प्रक्रिया पर ही सवाल खड़ा करना शुरू कर दिया है. शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान ट्रंप चुनावों को लेकर ऐसी ही एक टिप्पणी कर रहे थे लेकिन अमेरिका के कई बड़े टीवी चैनलों ने इस प्रेस कांफ्रेंस का प्रसारण बीच में ही रोक दिया. बाद में कई चैनलों ने बयान जारी कर कहा कि इस तरह पूरे चुनावों के बारे में किसी को भी बिना सबूतों के झूठ फैलाने नहीं दिया जा सकता.

अमेरिका के कई बड़े टीवी चैनलों- एबीसी, सीबीएस और एनबीसी ने ट्रंप की इस प्रेस कॉन्फ़्रेंस की कवरेज बीच में ही रोक दी और अपने दर्शकों से कहा कि राष्ट्रपति ने कई झूठे बयान दिए हैं. चैनलों का कहना है कि राष्ट्रपति ट्रंप की बातों से ऐसा लग रहा था कि वो "पोस्टल मतों" को "फ़्रॉड" यानी धोखाधड़ी ठहरा रहे हैं और पूरी चुनाव प्रक्रिया पर ही सवाल खड़े कर रहे हैं. ट्रंप ने कहा था कि ये मेरी और पूरी दुनिया की जंग है. ये मेरे या बाइडन के चुनाव जीतने का मसला नहीं है, ये पूरी प्रक्रिया ही आज सवालों के घेरे में है. ट्रंप मतदान से पहले से ही अपने समर्थकों से कहते रहे हैं वो पोस्टल वोट ना डालें बल्कि ख़ुद जाकर मतदान करें. वहीं जो बाइडन ने अपने समर्थकों से कहा था वो कोरोना महामारी को देखते हुए अधिक-से-अधिक संख्या में पोस्टल मतों से ही वोटिंग करें.






ट्रंप दावा कर रहे, सबूत नहीं
ट्रंप ने भारतीय समयानुसार शुक्रवार को तड़के एक बार फिर से बिना किसी प्रमाण के दावा किया कि "वैध मतों" की गिनती के हिसाब से राष्ट्रपति चुनाव में वही विजेता निकलेंगे. दो दिन की चुप्पी के बाद उन्होंने फिर से ये शिकायत ऐसे समय की जब दो महत्वपूर्ण राज्यों - जॉर्जिया और पेन्सिल्वेनिया - में पोस्टल मतों की जारी गिनती के साथ उनकी बढ़त घटती जा रही है. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में प्रेस कॉन्फ़्रेंस में एक बार फिर अपनी जीत का दावा करते हुए ये शिकायत की कि अवैध मतों से उनके पक्ष में आए चुनाव परिणाम को "चुराने" की कोशिश की की जा रही है.

जानकारों के मुताबिक फिलहाल उनके दावे का कोई जायज़ आधार नहीं है. राष्ट्रपति ट्रंप जिन पोस्टल मतों की गिनती की ओर इशारा कर रहे हैं, वो अवैध नहीं हैं. उनकी गिनती बाद में इसलिए हो रही है क्योंकि अमेरिका के कई राज्यों में यही प्रावधान है. अंतरराष्ट्रीय पर्यवेक्षकों ने अमेरिका में हो रहे चुनाव को अच्छी तरह संपन्न हो रहा चुनाव बताया है. उधर ट्रंप के समर्थकों ने कई राज्यों में क़ानूनी लड़ाई के लिए करोड़ों डॉलर जुटाना शुरू कर दिया है.

पोस्टल बैलट पर बयानबाजी करते रहे हैं ट्रंप
ट्रंप ने व्हाइट हाउस में अपने ताज़ा संवाददाता सम्मेलन में कहा कि "अगर वैध वोटों की गिनती की जाए तो चुनाव मैं जीतूंगा." उन्होंने क हा कि चुनाव को लेकर अदालतों तक मामले पहुंचे क्योंकि "ये प्रक्रिया अनुचित थी. हम इस तरह चुनावों में धोखाधड़ी बर्दाश्त नहीं कर सकते. मेल-इन बैलट के बारे में मैं पहले ही कह चुका हूं ये विनाशकारी साबित हो सकते हैं." राष्ट्रपति चुनावों को लेकर कई राज्यों में वोटों की गिनती दोबारा कराने की गुज़ारिश लेकर ट्रंप के चुनाव अभियान से जुड़े अधिकारी अदालतों के दरवाज़े तक पहुंचे हैं. पेन्सिल्वेनिया की फ़िलाडेल्फिया की अदालत में एक मामले की सुनवाई होनी अभी बाक़ी है. ट्रंप ने कहा कि एरिज़ोना में वो आगे चल रहे हैं.



हालांकि एरिज़ोना में अब तक 88 फीसदी मतों की गितनी पूरी हो गई है, यहां अब तक बाइडन आगे बढ़ते दिख रहे हैं. उन्होंने कहा, "चुनावों की पवित्रता की रक्षा करना हमारा लक्ष्य है और हम भ्रष्टाचार के कारण इतने महत्वपूर्ण चुनाव में कोई धोखेबाज़ी नहीं होने देंगे." ट्रंप ने कहा कि "मुझे लगता है कि चुनावों की पवित्रता को लेकर हम समझौता नहीं कर सकते. चुनाव के नतीजों के लिए शायद हमें क़ानूनी प्रक्रिया से गुज़रना हो. मुझे उम्मीद है कि नतीजे जल्दी आएंगे. इस मामले में फ़ैसला जजों को लेना होगा."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज