होम /न्यूज /दुनिया /

परमाणु टकराव का जोखिम दशकों बाद फिर वापस आ गया है: यूएन चीफ

परमाणु टकराव का जोखिम दशकों बाद फिर वापस आ गया है: यूएन चीफ

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (फोटो : रॉयटर्स)

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (फोटो : रॉयटर्स)

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) ने सोमवार को टोक्यो में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि परमाणु टकराव का जोखिम दशकों बाद वापस आ गया है,

हाइलाइट्स

हिरोशिमा में शनिवार को दुनिया की पहली परमाणु बमबारी की 77 वीं वर्षगांठ
परमाणु टकराव का जोखिम दशकों बाद वापस आ गया: एंटोनियो गुटेरेस
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने परमाणु हमले की संभावना को बढ़ाया

टोक्यो. जापान के हिरोशिमा में शनिवार को दुनिया की पहली परमाणु बमबारी की 77 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में शांति स्मारक समारोह का आयोजन हुआ था. जिसमे संयुक्त राष्ट्र महासचिव सहित कई अधिकारियों ने यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के बाद एक नई हथियारों की दौड़ की चेतावनी दी थी. इसके बाद संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) ने सोमवार को टोक्यो में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि परमाणु टकराव का जोखिम दशकों बाद वापस आ गया है. परमाणु राज्यों से हथियारों के न उपयोग करने के लिए प्रतिबद्ध होने की अपील की गई.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने वार्षिक समारोह में दूसरी बार भाग लिया है. जिसमे उन्होंने 1945 में हुए परमाणु हमले की छति का उल्लेख किया और अपने बयान में आगे कहा था कि रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर हमला किया. उन्होंने कहा कि धीरे -धीरे रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने परमाणु हमले की संभावना को स्पष्ट रूप से बढ़ा दिया है, यह एक चिंता का विषय है.

Hiroshima Day 2022: एक मानवीय कृत्य के विनाश से सीखने की जरूरत

परमाणु हथियार बकवास
गुटेरेस ने कहा कि ‘परमाणु हथियार बकवास हैं. वे सुरक्षा की गारंटी नहीं देते- केवल मृत्यु और विनाश लाते हैं.’ साथ ही उन्होंने जापान से जीवाश्म ईंधन उत्सर्जन में कोयला परियोजनाओं के सार्वजनिक और निजी वित्तपोषण को जल्द से जल्द रोकने की भी बात कही.

Tags: Bomb Blast, Japan, Nuclear weapon, Russia ukraine war

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर