UAE ने किया ऐलान-रेड क्रिसेंट करेगा कोरोना से मारे गए लोगों के परिवारों की देखभाल

UAE ने किया ऐलान-रेड क्रिसेंट करेगा कोरोना से मारे गए लोगों के परिवारों की देखभाल
ईआरसी की ओर से कहा गया है क‍ि प्रभावित परिवारों को सभी जरूरत की चीजें मुहैया कराई जाएंगी. फाइल फोटो

संयुक्‍त अरब अमीरात में ईआरसी ने घोषणा की है कि वह ऐसे परिवारों की एक संरक्षक के तौर पर देखभाल करेगा, जिनके परिवार के लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो गई हो.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 12:03 PM IST
  • Share this:
अबु धाबी. संयुक्‍त अरब अमीरात में अमीरात रेड क्रिसेंट (Emirates Red Crescent) ईआरसी ने घोषणा की है कि वह ऐसे परिवारों की एक संरक्षक के तौर पर देखभाल करेगा, जिनके परिवार के लोगों की कोरोना (Corona virus) की वजह से मौत हो गई हो. यह एक इशारा है और उस पहल का हिस्‍सा है जो आपको महसूस कराएगी कि आप अपने परिवार के बीच हैं. यह अहम कदम है.

'हमारा मकसद कोरोना की वजह से पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों को कम करना'
उन्होंने कहा कि यह पहल उन लोगों, परिवारों के लिए है, जो कोविद -19 (COVID-19) की वजह से अपने परिवार के सदस्यों में से किसी को खो चुके हैं. हमारा मकसद इसके मानवीय जीवन पर पड़ने वाले बुरे प्रभावों और लोगों के उनके जीवन पर इससे पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों को कम करना है.

ईआसी परिवारों को सभी जरूरी चीजें मुहैया कराएगा
इस संबंध में ईआरसी (ERC) के महासचिव डॉ. मुहम्मद अतीक अल फलाही ने कहा कि 'कोविद -19 से संबंधित संगठन की इस पहल का मकसद महामारी के खिलाफ एहतियाती प्रयासों को बढ़ाने को महत्व देना है.' उन्होंने यह भी कहा कि 'ईआरसी उन सभी चीजों को लोगों को मुहैया कराएगा, जो इन परिवारों को चाहिए होगी और उनकी जरूरत होगी. लोग किसी अपने को खोने के दर्द सहन कर सकें, इसलिए ऐसे लोगों की क्षमता बढ़ाने में योगदान दें.'



अल फलाही ने कहा कि 'फेडरेशन ने राष्ट्र स्‍तर पर और सक्षम अधिकारियों के सहयोग से पीड़ितों और उनके मृतकों की पहचान करके उनके परिवारों से राबता किया है. इसके तहत उनकी सामाजिक स्थिति का अध्ययन करके और उनके रहने, स्वास्थ्य और शैक्षणिक क्षेत्रों में उनकी जरूरतों की पहचान करते हुए प्रक्रियाओं को लागू करना शुरू कर दिया है.'

ये भी पढ़ें - सऊदी शहजादी ने कहा, 'मुझे कैद से छुड़ाओ', बाद में डिलीट किया ट्वीट

                   PAK : सरकार और उलेमा में मस्जिद में नमाज पढ़ने पर 20 बिंदुओं पर सहमति

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज