लाइव टीवी

ब्रिटेन में नए कोरोना वायरस टेस्ट किट की खोज, 50 मिनट में देगा रिजल्ट

News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 2:32 PM IST
ब्रिटेन में नए कोरोना वायरस टेस्ट किट की खोज, 50 मिनट में देगा रिजल्ट
50 मिनट में आ सकते हैं रिजल्ट्स

ब्रिटेन के रिसर्चर्स ने कहा कि नए मॉलिक्यूलर टेस्ट का उपयोग एक समय में 16 नमूनों की जांच के लिए किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 2:32 PM IST
  • Share this:
लंदन. ब्रिटेन (Britain) में शोधकर्ताओं ने एक पोर्टेबल स्मार्टफोन बेस्ड कोरोना वायरस टेस्ट किट (Coronavirus) तैयार किया है. इसके लिए दावा किया गया है कि यह टेस्ट किट गले में खराश होने के बाद केवल 50 मिनट में COVID-19 के रिजल्ट्स दे सकता है. मौजूदा समय में हो रहे टेस्ट्स की रिपोर्ट आने में 24-48 घंटे लगते हैं क्योंकि उन्हें लैब्स में भेजने की आवश्यकता होती है, ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंग्लिया (यूईए) के शोधकर्ताओं ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (टेस्ट) के लिए रोल आउट किए जाने के लिए दो हफ्ते में यह किट तैयार की.

उन्होंने कहा कि नए मॉलिक्यूलर टेस्ट का उपयोग एक समय में 16 नमूनों की जांच के लिए किया जा सकता है. अगर लैब बेस्ड डिटेक्शन मशीन का उपयोग कर रहे हैं तो एक साथ 384 नमूनों की जांच सकती है.

टेस्ट किट का उद्देश्य सेल्फ आइसोलेट चिकित्सा कर्मचारियों को जल्दी से जल्दी काम पर लौटने में मदद करना है. UEA के रिसचर्स के अनुसार टेस्ट किट यह भी सुनिश्चित करेगा कि काम करने वाले लोग वायरस नहीं फैला रहे हैं.

दो सप्ताह में अस्पतालों तक पहुंचाया जा सकता है टेस्ट किट



UEA के नॉर्विच मेडिकल स्कूल के शोधकर्ता जस्टिन ओ'ग्राडी ने कहा 'इसके पीछे का विचार यह है कि हमें एनएचएस कर्मचारियों का अधिक तेज़ी से परीक्षण करने की आवश्यकता है. ऐसे में वह काम पर आ सकते हैं. अगर वह घर ही रहेंगे तो यह संभावित रूप से बहुत कमजोर रोगियों के लिए जोखिम हैं.'

ओ'ग्राडी ने कहा, 'हम इस पर बहुत तेज़ी से आगे बढ़ना चाहते हैं और उम्मीद करते हैं कि इसे लगभग दो सप्ताह में अस्पतालों तक पहुंचाया जा सकता है.'

किट तेजी से तीन मिनट आरएनए कंक्लूजन का उपयोग करते हुए एक थ्रोट स्वैब सैंपल से आनुवंशिक सामग्री (आरएनए) को सीक्वेंस में लाकर काम करता है ताकि Covid-19 का पता लगाया जा सके. ओ'ग्राडी ने कहा, 'टेस्ट का उपयोग करना आसान है, इसलिए इसे सेमी स्किल्ड हेल्थ वर्कर भी देख सकता है.'

यह भी पढ़ें:- 

क्या चीन के 'डर' से WHO ने छुपाए कोरोना के केस, अब दुनिया झेल रही नतीजा!
स्पेन की डिप्टी पीएम भी कोरोना पॉजिटिव, लाशों के साथ रहने के लिए लोग मजबूर
Lockdown में क्या कर सकते हैं क्या नहीं? दिल्ली पुलिस ने दिए इन सवालों के जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 2:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर