अपना शहर चुनें

States

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन बोले- कोरोना के नए स्ट्रेन से बढ़ सकती है मृत्यु दर, लेकिन वैक्सीन का हो रहा असर

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Borish Jhonson) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के चलते मृत्यु दर में बढ़ोत्तरी हो सकती है.
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Borish Jhonson) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के चलते मृत्यु दर में बढ़ोत्तरी हो सकती है.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Borish Jhonson) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के चलते मृत्यु दर में बढ़ोत्तरी हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 9:12 AM IST
  • Share this:
लंदन. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Jhonson) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्ट्रेन के चलते मृत्यु दर में बढ़ोत्तरी हो सकती है. उन्होंने कहा कि इस बात के सबूत भी मिले हैं कि देश में इस्तेमाल किए जा रहे दोनों टीके इसके खिलाफ प्रभावी हैं. जॉनसन ने एक प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि 'आज हमें जानकारी दी गई है कि ज्यादा तेजी से फैलने के अलावा अब इसके भी सबूत सामने आ रहे हैं कि पहली बार लंदन और दक्षिण-पूर्व (इंग्लैंड का) में पाए गए नए स्ट्रेन के चलते मृत्यु दर में बढ़ोतरी हो सकती है.'

हालांकि जॉनसन ने कहा कि सभी मौजूदा सबूतों से पता चलता है कि दोनों टीके पुराने और नए स्ट्रेन के खिलाफ प्रभावी हैं. बता दें पिछले साल कोरोना संक्रमण का नया स्ट्रेन उस वक्त सामने आया था, जब ब्रिटेन में रोजाना संक्रमण के मामले में 4 फीसदी तक सीमित हो गए थे.

अब तक 5.38 लाख लोगों को लग चुके हैं टीके
शुक्रवार को जारी किए गए आंकड़ों से पता चला है कि 5.38 लाख लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई थी जिसमें पिछले 24 घंटों में 4,09,855 लोगों को टीके लगे. इंग्लैंड और स्कॉटलैंड ने 4 जनवरी को कोरोनोवायरस संक्रमण के नए स्ट्रेन से फैलने वाली बीमारी में बढ़ोतरी को नियंत्रित करने के लिए कई प्रतिबंध लगा दिए थे.
ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अनुमानित आंकड़ों के अनुसार संक्रमण के नए मामले 1 फीसदी से 4 फीसदी के बीच सिमट गए हैं. पिछले हफ्ते तक यह आंकड़ा 5 फीसदी के करीब था. बताया गया कि पिछले हफ्ते जहां रिप्रोडक्शन 'R' 1.2 से 1.3 तक था तो वहीं अभी वह आंकड़ा 0.8 से 1 के बीच सीमित हो गए हैं. इसका मतलब है कि हर 10 संक्रमित व्यक्ति 8 को और वे 8 अन्य 10 लोगों को संक्रमित कर सकते हैं.



वहीं नेशनल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस के अनुमान के अनुसार प्रिवलेंस हमेशा ज्यादा ही रहा. 55 में से लगभग 1 व्यक्ति संक्रमित पाया गया. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, 'मामले खतरनाक बने हुए हैं और हमें इस वायरस के नियंत्रण को लेकर सतर्क रहना चाहिए. यह आवश्यक है कि हर कोई घर पर रहे, चाहे उनके पास टीका हो या नहीं.' अब तक ब्रिटेन में 3.5 लाख से अधिक संक्रमण के मामले सामने आए और लगभग 96,000 मौतें दर्ज की गई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज