UK: PM बोरिस जॉनसन की मां हुई थीं घरेलू हिंसा की शिकार, पिता ने तोड़ दी थी नाक

बोरिस जॉनसन की मां भी घरेलू हिंसा की शिकार हुई हैं. उनपर आई किताब में यह जानकारी दी गई है.
बोरिस जॉनसन की मां भी घरेलू हिंसा की शिकार हुई हैं. उनपर आई किताब में यह जानकारी दी गई है.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (PM Boris Johnson) के पिता ने घरेलू हिंसा (Domestic Violence) की घटना में उनकी मां की नाक (Broke Mother's Nose) तोड़ दी थी. यह खुलासा एक किताब में किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 2:54 PM IST
  • Share this:
लंदन. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (PM Boris Johnson) के पिता ने घरेलू हिंसा (Domestic Violence) की घटना में उनकी मां की नाक (Broke Mother's Nose) तोड़ दी थी. यह खुलासा एक किताब में किया गया है. किताब में बताया गया है कि जब बोरिस जॉनसन 10 वर्ष के थे, उस समय उनके पिता स्टेनली जॉनसन ने उनकी माँ शार्लेट वाहल की घरेलू हिंसा में नाक तोड़ दी थी. इस घटना के बाद शार्लेट को अस्पताल में भर्ती करना पड़ा था. लेखक टॉम बोवर ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन पर 'दी गैंबलर' शीर्षक से एक एक किताब लिखी है. इस किताब में बोरिस जॉनसन के साथ घटी घटनाओं से उनके चरित्र का उद्घाटन किया गया है. अपनी माँ के साथ हुई हिंसा से वे बहुत चिंतित रहते थे. इस किताब में अपने माता-पिता के तलाक और एक खराब बचपन की चोट से जूझ रहे एक नौजवान की तस्वीर को चित्रित किया गया है जिसमें वह अन्य पुरुषों के साथ मित्रतापूर्ण व्यवहार करता है.

बोरिस जॉनसन के जीवन पर किताब का प्रकाशन

लेखक टॉम बोवर ने पीएम बोरिस जॉनसन के परिवार और दोस्तों के साथ किये साक्षात्कार के आधार पर यह किताब लिखी है जिसमें प्रधानमंत्री के चरित्र की गहराई से जांच पड़ताल की गई है. प्रधानमंत्री के पिता स्टैनली जॉनसन के परिवार और दोस्तों ने जोर देकर कहा कि यह 1970 के दशक में इस जोड़े के बीच केवल एक बार हुई घटना थी लेकिन लेखक बोवर का दावा है कि जोंसन दंपति के बीच के संबंध हिंसक थे और उनकी शादी बहुत सुखमय नहीं थी. लेखक का दावा है कि जब यह नाक तोड़ने की घटना घटी तब प्रधानमंत्री की माँ शार्लेट ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर नामक बीमारी से से पीड़ित थीं. शार्लेट को अब पार्किंसन रोग हो गया है. जिस वक़्त उनकी नक् तोड़ी गई उस समय उन्होंने अस्पताल के डॉक्टरों को बताया था कि मुझ पर किये दुर्व्यवहार के बारे में स्टैनली से बात करो. उन्होंने यह भी कहा था कि उसने मुझे मारा था और उसने मेरी नाक तोड़ी थी.



इस हादसे के समय बोरिस 10 साल के थे
यह हादसा जिस समय हुआ उस समय बोरिस और उनके भाई बहनों को बताया गया था कि उनकी माँ को यह चोट दरवाजे से जोर से टकराने के कारण लग गई थी. लेकिन दस साल के बोरिस इस घटना की सच्चाई जानते थे क्योंकि उनकी माँ शार्लेट उनकी कम उम्र होने के बावजूद उनसे अपनी शादीशुदा ज़िंदगी की तकलीफों को साझा किया करती थीं. शार्लेट जब अस्पताल में थीं तब उनके माता-पिता उत्तरी लंदन के सेंट जॉन्स और सेंट एलिजाबेथ अस्पताल में रोजाना उनसे मिलने आया करते थे. लेखक बोवर ने कहा कि प्रधानमंत्री पर अपने मातापिता के खराब संबंधों और उस कारण घर के तनावपूर्ण माहौल का बहुत प्रभाव पड़ा है.

ये भी पढ़ें: दुनिया में कई वजहों से जनता आंदोलित है, तस्वीरों से जानिए क्यों हो रहा विरोध?

सात महीने बाद आज से 'उमरा' के लिए खुले पवित्र मक्का के दरवाजे  

टॉम बोवर एक ब्रिटिश लेखक हैं जो अपनी खोजी पत्रकारिता और अपनी अनधिकृत आत्मकथाओं के लिए जाने जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज