Home /News /world /

ukraine crisis biden urges coalition to maintain solidarity

यूक्रेन संकट: बाइडन ने गठबंधन की एकजुटता बनाए रखने का आग्रह किया

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (AP)

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (AP)

बाइडन और जी-7 समूह के अन्य नेताओं ने यूक्रेन पर रूसी आक्रमण को लेकर रूस को अलग-थलग करने के लिए दबाव बनाए रखने की रणनीति पर चर्चा की. इस संबंध में नेताओं द्वारा रूस से सोने के आयात पर प्रतिबंध समेत नयी घोषणाएं होने की संभावना है.

एलमौ. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने रूस का मुकाबला करने वाले वैश्विक गठबंधन की एकता को बनाए रखने का आग्रह किया. वहीं, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने नेताओं को आगाह किया कि आगे कमजोर नहीं पड़ना है.

बाइडन और जी-7 समूह के अन्य नेताओं ने यूक्रेन पर रूसी आक्रमण को लेकर रूस को अलग-थलग करने के लिए दबाव बनाए रखने की रणनीति पर चर्चा की. इस संबंध में नेताओं द्वारा रूस से सोने के आयात पर प्रतिबंध समेत नयी घोषणाएं होने की संभावना है.

बाइडन और उनके समकक्ष नेता ऊर्जा आपूर्ति को सुरक्षित करने और मुद्रास्फीति से निपटने के तरीके पर चर्चा करने के लिए बैठक कर रहे हैं, जिसका उद्देश्य रूस को दंडित करने के लिए काम कर रहे वैश्विक गठबंधन को युद्ध के परिणामों से बचाना है.

बाइडन ने विकासशील देशों में चीन के प्रभाव का मुकाबला करने के लिए तैयार की गई वैश्विक बुनियादी ढांचा साझेदारी की शुरुआत की. इस पहल का उद्देश्य वैश्विक बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर खर्च करने के लिए 2027 तक सात देशों के समूह के साथ 600 अरब डॉलर की मदद करना है.

अमेरिकी अधिकारी लंबे समय से कहते रहे हैं कि चीन का निवेश और बुनियादी ढांचा पहल संबंधित देशों को कर्ज के जाल में फंसाती है और इससे सिर्फ चीन को ही फायदा होता है.

जर्मन चांसलर ओलाफ शॉल्त्स के साथ शिखर सम्मेलन से पहले की एक बैठक के दौरान बाइडन ने कहा, ‘‘हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम सभी एकजुट रहें।’’ शॉल्त्स वर्तमान में जी-7 के अध्यक्ष हैं और इस शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहे हैं.

बाइडन ने कहा, ‘‘हमें एक साथ रहना होगा, क्योंकि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को शुरू से ही यह उम्मीद थी कि किसी तरह नाटो और जी-7 में फूट पड़ जाएगी लेकिन वह नहीं हुआ और हम यह नहीं होने देंगे.’’

इस शिखर सम्मेलन की औपचारिक शुरुआत से कुछ घंटे पहले, रूस ने पिछले तीन हफ्ते में पहली बार रविवार को यूक्रेन की राजधानी कीव पर मिसाइल हमले शुरू किए और कम से कम दो आवासीय भवनों को निशाना बनाया.

बाइडन ने रूस की कार्रवाई की निंदा की और इसे ‘‘बर्बरता’’ करार दिया. जॉनसन ने कहा, ‘‘हमें दिखाना होगा कि हम पुतिन से ज्यादा मजबूत हैं.’’ कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भी पुतिन पर निशाना साधा. शॉल्त्स ने कहा कि ‘‘अच्छा संदेश’’ यह है कि ‘‘हम सभी ने इसे एकजुट रहने के लिए बनाया है, जिसकी पुतिन ने कभी उम्मीद नहीं की थी.’’

यूक्रेन को भारी हथियार भेजने के प्रति अनिच्छा दिखाने के लिए आलोचना झेल चुके शॉल्त्स ने कहा, ‘‘यूक्रेन की सुरक्षा के मुद्दे पर जर्मनी और अमेरिका हमेशा साथ मिलकर काम करेंगे.’’

यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने कहा कि यूरोपीय संघ की सरकारें यूक्रेन को अपनी रक्षा करने और ‘‘युद्ध छेड़ने की रूस की क्षमता पर अंकुश लगाने’’ के लिए ‘‘अधिक सैन्य सहायता, अधिक वित्तीय साधन तथा अधिक राजनीतिक समर्थन’’ देने को तैयार हैं.

Tags: G-7 leaders meeting, G-7 Meeting, Germany, Narendra modi, Russia ukraine war

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर