Home /News /world /

ukraine president zelensky called russia presiden putin a terrorist asked un to expel it

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने पुतिन को बताया आतंकवादी, UN से निष्कासित करने की उठाई मांग

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को वीडियो के जरिए संबोधित किया.

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को वीडियो के जरिए संबोधित किया.

Russia Ukraine war: यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक को वीडियो के जरिए संबोधित करते हुए कहा कि रूस के राष्ट्रपति पुतिन एक ‘आतंकवादी’ बन गए हैं और एक ‘आतंकवादी देश’ का नेतृत्व करते हैं. अगर उन्हें नहीं रोका गया तो उनकी ‘आतंकवादी हरकतें’ बाकी यूरोपीय देश और एशिया में भी फैलने लगेंगी.

अधिक पढ़ें ...

संयुक्त राष्ट्र: यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने मंगलवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर बड़ा आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि पुतिन एक ‘आतंकवादी’ बन गए हैं और एक ‘आतंकवादी देश’ का नेतृत्व करते हैं. जेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र से रूस को निष्कासित करने का भी अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि रूस को जवाबदेह ठहराने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण स्थापित किया जाना चाहिए.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक को वीडियो के जरिए संबोधित करते हुए जेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र से कहा कि ‘रूस की ओर से यूक्रेन की धरती पर अंजाम दी गई हरकतों की जांच की जानी चाहिए… रूस द्वारा की जा रही इन हत्याओं को रोकने के लिए हमें तुरंत कार्रवाई करनी होगी. अगर ऐसा नहीं किया गया तो रूस की ‘‘आतंकवादी हरकतें’’ अन्य यूरोपीय देशों और एशिया में भी फैलने लगेंगी.’’ जेलेंस्की ने कहा, ‘‘पुतिन एक आतंकवादी बन गए हैं. हर दिन आतंकवादी कृत्यों को अंजाम दे रहे हैं. वीकेंड पर भी नहीं रुक रहे. हर दिन वह आतंकवादियों की तरह व्यवहार कर रहे हैं.’’

रूस को संयुक्त राष्ट्र से बाहर करने का आग्रह करते हुए जेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अनुच्छेद-6 का हवाला दिया. इसमें कहा गया है कि एक सदस्य देश ‘‘जिसने वर्तमान चार्टर के सिद्धांतों का लगातार उल्लंघन किया है, उसे सुरक्षा परिषद के अनुरोध पर महासभा द्वारा संगठन से निष्कासित किया जा सकता है.’’हालांकि बता दें कि रूस को निष्कासित करना असल में असंभव है, क्योंकि वह सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य है. ऐसे में वह अपने खिलाफ इस तरह की किसी भी कार्रवाई को रोकने के लिए ‘वीटो’ का इस्तेमाल कर सकता है.

जेलेंस्की ने अपने संबोधन के आखिर में सुरक्षा परिषद के सदस्यों और अन्य लोगों से आग्रह किया कि वे युद्ध में मारे गए लाखों यूक्रेनी बच्चों और वयस्कों के लिए खडे़ होकर श्रद्धांजलि दें. जेलेंस्की के अनुरोध पर संयुक्त राष्ट्र में रूस के उप राजदूत दिमित्री पोलांस्की सहित सभी सदस्य खड़े हुए.

वहीं, रूस के राजदूत ने यूक्रेन के राष्ट्रपति के वीडियो संबोधन को परिषद की परंपराओं और उन मौजूदा सिद्धांतों का उल्लंघन करार दिया, जिसके अनुसार किसी भी नेता को परिषद में अपनी बात रखने के लिए कक्ष में उपस्थित होना चाहिए. दिमित्री पोलांस्की ने कहा, ‘‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को राष्ट्रपति जेलेंस्की के नाटो (उत्तर अटलांटिक संधि) के सदस्य देशों से अधिक हथियार प्राप्त करने के लिए एक प्रचार अभियान का मंच नहीं बनना चाहिए.’’

Tags: Russia ukraine war, United nations, Vladimir Putin

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर