लाइव टीवी

UNGA में संयुक्त राष्ट्र महासचिव उठा सकते हैं कश्मीर का मुद्दा

भाषा
Updated: September 20, 2019, 4:44 PM IST
UNGA में संयुक्त राष्ट्र महासचिव उठा सकते हैं कश्मीर का मुद्दा
(AP Photo/Mary Altaffer, File)

एंतोनियो गुतारेस (Antonio Guterres ) ने इस बात पर जोर दिया था कि भारत और पाकिस्तान के बीच ’बातचीत’ कश्मीर मुद्दे पर समाधान तक पहुंचने के लिए ‘ पूरी तरह से जरूरी चीज’ है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 20, 2019, 4:44 PM IST
  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के आगामी उच्चस्तरीय सत्र में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस (Antonio Guterres ) कश्मीर का मुद्दा उठा सकते हैं. संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी.

महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने नियमित तौर पर होने वाले संवाददाता सम्मेलन में गुरुवार को यहां कहा कि कश्मीर में मौजूदा संकट के समाधान के लिए संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने इस मुद्दे का एकमात्र हल बातचीत की जरूरत को बताया है और कश्मीर में मानवाधिकार को लेकर जो चिंताएं हैं, उसका हल निकालने का भी यही एक मात्र रास्ता है.

कश्मीर पर पूछे गए सवाल का दिया जवाब
डुजारिक ने कश्मीर को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा, 'कश्मीर को लेकर महासचिव पहले भी कह चुके हैं कि वह इस पर नजर रखेंगे. मेरे विचार से महासचिव महासभा इस सत्र के दौरान विचार-विमर्श के अवसर का इस्तेमाल करेंगे.'

बुधवार को गुतारेस ने इस बात पर जोर दिया था कि भारत और पाकिस्तान के बीच ’बातचीत’ कश्मीर मुद्दे पर समाधान तक पहुंचने के लिए ‘ पूरी तरह से जरूरी चीज’ है. उन्होंने कहा कि अगर दोनों पक्ष चाहें तो वह मध्यस्थता के लिए तैयार हैं. उन्होंने मानवाधिकारों के प्रति पूरी निष्ठा की मांग की.

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त किए जाने और उसे दो केंद्र शासित क्षेत्र में बांटे जाने के बाद केंद्र के फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ा हुआ है.

यह भी पढ़ें:  UN में कश्मीर पर नहीं आतंकवाद पर चर्चा करेगा भारत, पाकिस्तान का होगा पर्दाफाश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 20, 2019, 4:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...