Home /News /world /

UN महासचिव ने आतंकरोधी कार्यों में भारत के सहयोग की तारीफ की

UN महासचिव ने आतंकरोधी कार्यों में भारत के सहयोग की तारीफ की

यूएन महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने हमले से पहले ही आतंकियों का पता लगाने और हमला रोकने को दुनिया की सबसे बड़ी प्राथमिकता बताया.

यूएन महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने हमले से पहले ही आतंकियों का पता लगाने और हमला रोकने को दुनिया की सबसे बड़ी प्राथमिकता बताया.

एंटोनियो गुटेरस ने संयुक्त राष्ट्र आतंकवादी यात्रा रोकथाम कार्यक्रम शुरू किया. उन्हाेंने कहा, इस्लामिक स्टेट (IS) से भाग रहे आतंकवादियों का पता लगाना बहुत जरूरी है.

    संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने यूएन के आतंकवाद रोधी कार्यों में भारत के सहयोग की सराहना की है. उन्हाेंने कहा, मैं यूएन के आतंक रोधी कार्य में भारत, जापान, सऊदी अरब और कतर की ओर से किए जा रहे सहयोग की सराहना करता हूं. उन्हाेंने संयुक्त राष्ट्र आतंकवादी यात्रा रोकथाम कार्यक्रम शुरू करने के दौरान कहा कि इस्लामिक स्टेट (IS) से भाग रहे आतंकवादियों का पता लगाना बहुत जरूरी है.

    हमले से पहले ही आतंकियों को रोकना बड़ी प्राथमिकता 

    संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने किसी भी आतंकी हमले को अंजाम देने से पहले ही आतंकियों को रोकने और पकड़ने को अंतरराष्ट्रीय समुदाय की सबसे बड़ी प्राथमिकता बताया. बता दें कि ईस्टर पर श्रीलंका में हुए आत्मघाती हमलों के करीब दो हफ्ते बाद संयुक्त राष्ट्र ने यह नया कार्यक्रम शुरू किया है. इन हमलों की जिम्मेदारी आईएस ने ली थी.

    सदस्य देशों में आतंक से निपटने की क्षमता बढ़ाएगा कार्यक्रम 

    गुटेरस ने कहा कि यह कार्यक्रम आतंकवाद रोधी अंतरराष्ट्रीय सहयोग मजबूत करने, आतंकवादियों का पता लगाने, उनकी पहचान करने, उन्हें रोकने, न्याय के कठघरे में लाने के लिए बहुपक्षीय नेटवर्क को विस्तार देने में मदद करेगा. साथ ही आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित सदस्य देशों में इस खतरे से निपटने की क्षमता सुनिश्चित करने में मदद करेगा.

    आईएस की हार के बाद लौट रहे आतंकी ढूंढ रहे हैं पनाह 

    आईएस की शिकस्त के बाद कई आतंकी स्वदेश लौटने, सुरक्षित पनाहगाहों या दुनिया के संकटग्रस्त हिस्सों में जाने की कोशिश कर रहे हैं. इनमें कई प्रशिक्षित आतंकी हैं. वे भविष्य में आतंकी हमलों को अंजाम दे सकते हैं. वहीं, ये आतंकी कट्टरपंथ फैलाने और अपने उद्देश्य के लिए नए साथियों की भर्ती भी कर सकते हैं. लिहाजा, किसी हमले को अंजाम देने से पहले इन आतंकवादियों का पता लगाना अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए सबसे बड़ी प्राथमिकता है.

    ये भी पढ़ें: लाहौर के दाता दरबार में ब्लास्ट, 2 पुलिस वालों समेत 9 की मौत, 24 घायल

    ये भी पढ़ें: श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट में 200 बच्चों के परिजनों की मौत

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Action against terror attack, Indian Armed Forces, Islamic state, United States (US), World terrorism

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर