संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख ने की इजराइल, हमास से तनाव कम करने की अपील

फोटो सौ. (AP)

फोटो सौ. (AP)

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार की उच्चायुक्त मिशेल बाचेलेत ने कहा, '' दोनों पक्षों के नेताओं की ओर से जारी भड़काऊ बयानबाजी तनाव को शांत करने के बजाय इसे बढ़ावा देने जैसी जान पड़ती है.''

  • Share this:

बर्लिन. संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार प्रमुख ने शनिवार को इजराइल और गाजा के चरमपंथी संगठन हमास से तनाव कम करने और हिंसक कार्रवाई को रोकने की अपील की. जिनेवा में शनिवार को जारी एक बयान में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार की उच्चायुक्त मिशेल बाचेलेत ने कहा, '' दोनों पक्षों के नेताओं की ओर से जारी भड़काऊ बयानबाजी तनाव को शांत करने के बजाय इसे बढ़ावा देने जैसी जान पड़ती है.''

इजराइल के हवाई हमले में गाजा स्थित एक बहुमंजिला इमारत को गिराये जाने के कुछ ही देर पहले शनिवार को बाचेलेत का यह बयान सामने आया. इजराइल द्वारा निशाना बनाई गई इमारत में एसोसिएटेड प्रेस समेत अन्य मीडिया संस्थानों के कार्यालय भी थे.

इजराइल का रॉकेट दागना मानवाधिकार कानून का उल्लंघन

बयान में बाचेलेत ने चेताया कि फलीस्तीनी सशस्त्र समूहों द्वारा घनी आबादी वाले इलाकों समेत इजराइल में अंधाधुंध रॉकेट दागे जाना अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानून का स्पष्ट उल्लंघन है जोकि युद्ध अपराध के समान है. उन्होंने इजराइली सेना द्वारा गाजा के नागरिक ठिकानों पर किए गए हमलों की भी निंदा की.
ये भी पढ़ेंः- कैसे रखे जाते हैं तूफानों के नाम, जानें 'टाउते' का क्या मतलब, किस देश ने दिया नाम


गाजा के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का कहना है कि इजरायल के साथ शुरू हुये ताजा संघर्ष में मरने वालों की संख्‍या 70 पहुंच गई जिसमें 16 बच्‍चे शामिल हैं. वहीं इजरायली हमलों में 300 से ज्‍यादा लोग बुरी तरह से घायल हो गए हैं. इस बीच इजरायल की सेना ने कहा है कि हमास की ओर से अब तक 1500 से ज्‍यादा रॉकेट दागे गए हैं. इजरायली हवाई हमलों में हमास के 11 कमांडर मारे गए हैं. एक इजरायली सैनिक भी मारा गया है. विशेषज्ञों का कहना है कि हमास अभी झुकने के मूड में नहीं है और उसके पास अभी इतने रॉकेट हैं कि वह अगले दो महीने तक इजरायल पर हमला जारी रख सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज